Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Agneepath Yojana 2024: ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व अग्निपथ योजना चयन प्रक्रिया

Agneepath Yojana 2024, agneepath yojana age limit, agneepath yojana eligibility, agneepath yojana form online, agneepath yojana in hindi, agneepath yojana registration, अग्निपथ योजना आर्मी height, अग्निपथ योजना आर्मी आयु सीमा, अग्निपथ योजना आर्मी भर्ती, agneepath scheme in hindi, agnipath yojana eligibility, अग्निपथ योजना salary

भारतीय सशस्त्र बलों में भर्ती को लेकर भारत सरकार एक योजना लेकर आई है जिसका नाम है अग्निपथ योजना। इस योजना के द्वारा सेना में भर्ती होने का पूरा प्रारूप ही बदल गया है। आज के इस लेख में हम आपको Agneepath Yojana से जुड़ी सारी जानकारी मुहैया कराएंगे. इसलिए आप इस आर्टिकल को अंत तक ज़रूर पढ़े.

Agneepath Yojana

ये भी पढ़े – 

Agnipath Yojana 2024

अग्निपथ योजना युवाओं के लिए एक प्रकार की स्किम है इस योजना के जरिये देश के युवाओं को 4 साल तक सेना में काम करने का मौका मिलेगा. योजना के तहत पूरे भारत से वरीयता के आधार पर सैनिक, वायुसैनिक और नौसेनिकों का चयन होगा. इस योजना में चयनित युवाओं में से 75 फीसदी 4 साल की सर्विस के बाद कार्यमुक्त हो जाएंगे. अन्य 25 फीसद को आगे भी सेना में अपनी सेवा जारी रखने का मौका मिलेगा. यानी 100 में से 25 युवक ऐसे होंगे जिन्हें पूर्णकालिक सेवा का मौक दिया जाएगा. चार साल के कार्यकाल में सभी अग्निवीरों को प्रतिमाह करीब 40000 रुपए मिलेंगे. एग्जिट के समय करीब 12 लाख रुपए सेवा​ निधि पैकेज के रूप में​ मिलेंगे.

इस दौरान युवाओं को उनके कौशल से जुड़ा प्रमाणपत्र भी तीनों सेनाओं की ओर से प्रदान किया जाएगा, जिससे उन्हें आगे नौकरी में आसानी हो या अगर वह खुद का कुछ कार्य करना चाहते हों तो बैंक लोन मिल सके. नौसेना के चीफ एडमिरल आर. हरि कुमार का कहा कि इस योजना के तहत पहले साल में करीब 45000 युवाओं को भर्ती किया जाएगा. खास बात यह है कि अग्निपथ योजना (Agneepath Yojana) में महिला और पुरुष दोनों की भागीदारी होगी. इन्हें 6 महीने का सैन्य प्रशिक्षण दिया जाएगा.

अग्निपथ योजना (Agneepath Yojana) के लिए कौन-कौन पात्र है?

  • अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) के तहत इंडियन आर्मी, इंडियन नेवी और इंडियन एयरफोर्स में भर्ती की जाएगी. 
  • अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) के तहत अग्निवीर बनने के लिए आवेदक 8वीं पास या 10वीं या 12वीं पास या आईटीआई पास होना चाहिए.
  • आवेदक की न्यूनतम उम्र 17.5 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए और अधिकतम उम्र 21 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए. 

नोट – केवल इस साल आवेदकों को अधिकतम उम्र में 2 वर्ष की छूट दी गई है यानी 23 साल तक के उम्मीदवार भी इस साल अग्निपथ योजना के तहत इंडियन आर्मी, इंडियन नेवी और इंडियन एयरफोर्स में नौकरी के लिए आवेदन कर सकते है. 

10वीं पास युवा रिटायरमेंट पर 12वीं पास कहलाएंगे

  • जो 10वीं के बाद अग्निवीर बनेंगे उन्हें सेना की ओर से 12वीं पास का सर्टिफिकेट के साथ स्किल इंडिया, फिट इंडिया आदि योजनाओं के तहत सर्टिफिकेट दिया जाएगा. 12वीं पास का यह सर्टिफिकेट पूरे देश में नौकरी और उच्च शिक्षा दोनों उद्देश्यों के लिए मान्य होगा.
  • इसके अलावा 12वीं पास अग्निवीरों को डिप्लोमा/ डिग्री का प्रमाण-पत्र दिया जायेगा.

Agneepath Yojana भर्ती

  • इस योजना के तहत युवाओ को थल सेना / वायु सेना / नौ सेना में केवल 4 साल की अवधि के लिए भर्ती किया जायेगा. 
  • पहाड़ो से लेकर रेगिस्तान तक के विभिन्न इलाको में सेवा का अवसर दिया जायेगा. 
  • यह सैन्य भर्ती वर्ष में 2 बार होगी।
  • इस वर्ष 46000 अग्निवीरों का चयन होगा

Agneepath Yojana Salary Package 

पहला साल : थल सेना / वायु सेना / नौ सेना में अग्निवीर के तौर पर चयन होने पर, चयनित उम्मीदवार का पहले साल वेतन 30,000 रूपये प्रति माह होगा. जिसमे से अग्निवीर को 21,000 रूपये इन हैंड सैलरी दी जाएगी और बाकी के बचे हुए 9 हजार रुपये अग्निवीर की तरफ से “अग्निवीर कॉर्पस फंड” में जमा कराये जाएगे. यह सैलरी का 30 फीसदी है. और इतना ही (9,000 रुपये) भारत सरकार द्वारा इसी फंड में डाला जाएगा. 

दूसरा साल : दूसरे साल में सैलरी बढ़कर 33,000 रूपये प्रति माह होगी. इसमें से 9,900 रूपये “अग्निवीर कॉर्पस फंड” में जाएगे और इतना ही सरकार द्वारा फंड में जमा किया जायेगा. कटौती के बाद अग्निवीर सैनिकों को हर महीने 23,100 रुपये इन-हैंड सैलरी दी जाएगी.

तीसरा साल :  तीसरे साल में मंथली पैकेज 33,000 से बढ़कर 36,500 रूपये हो जायेगा.  जिसमे से 10,950 रुपये “अग्निवीर कॉर्पस फंड” में हर महीने जमा कराने होंगे. इतने ही पैसे हर महीने सरकार भी फंड में डालेगी. सैलरी में 10,950 रुपये कटौती के बाद अग्निवीर की इन-हैंड मासिक सैलरी 25,550 रुपये होगी.

चौथा साल : चौथे साल में सैलरी बढ़कर 40,000 रुपये हो जाएगी. जिसमे से अग्निवीर की तरफ से 12,000 रुपये “अग्निवीर कॉर्पस फंड” जाएंगे और सरकार भी इतना ही योगदान करेगी. इस तरह अग्निवीरों की इन-हैंड सैलरी 28,000 रुपये होगी.

अग्निवीरों को मासिक वेतन के साथ हार्डशिप अलाउंस, यूनिफॉर्म अलाउंस, कैंटीन और मेडिकल सुविधा दी जाएगी. अग्निवीरों को ट्रैवल अलाउंस भी मिलेगा.

साल में 30 दिन की छुट्टी मिलेगी. उन्हें मेडिकल लीव अलग से दिया जाएगा. हालांकि, यह मेडिकल चेकअप पर निर्भर करेगा. 

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

कार्यकाल पूरा होने पर 

चार साल पूरे होने के बाद “अग्निवीर कॉर्पस फंड” में एक अग्निवीर द्वारा 5.02 लाख रुपये जमा हो जाएगे और इतना ही पैसा सरकार की तरफ से भी डाला गया होगा. इसे जोड़ दिया जाए तो एक अग्निवीर को 11.71 लाख रुपये कार्यकाल पूरा होने पर सेवानिधि के रूप में मिलेंगे जिसमे ब्याज भी शामिल होगा. सेवानिधि पैकेज का भुगतान एकमुश्त होगा. रक्षा मंत्रालय की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार, इस पैकेज पर कोई टैक्स नहीं लगेगा.

इसके अलावा 4 साल का कार्यकाल पूरा होने के बाद अग्निवीर सेना में स्थाई नौकरी के लिए आवेदन कर सकेंगे। सेना के अधिकारी अग्निवीरों को उनकी योग्यता और प्रदर्शन के आधार पर उन्हें स्थाई करने पर विचार करेंगे। 25% ‘अग्निवीरों’ को स्थायी कैडर में भर्ती किया जाएगा।

अग्निवीर 4 साल तक सेवारत रहेंगे. जिसके बाद सेवानिवृत्त होने पर जवानों को पेंशन की सुविधा नहीं मिलेगी. 

चार साल से पहले सेना छोड़ सकते हैं अग्निवीर या नहीं?

नोटिफिकेशन के मुताबिक, सेना में भर्ती होने वाले अग्निवीर अपनी मर्जी से चार साल से पहले सेवाएं नहीं छोड़ सकते हैं. उन्हें अपना कार्यकाल पूरा करना होगा. केवल असाधारण परिस्थितियों में ही कोई अग्निवीर चार साल से पहले सेना छोड़ सकता है. इस मामले में उसे सेवा निधि पैकेज का वही हिस्सा मिलेगा जो उसने योगदान किया है जबकि सरकारी योगदान से वंचित रहना पड़ेगा.

ये भी पढ़े – 

मृत्यु पर मुआवजा 

ड्यूटी के दौरान किसी अग्निवीर ने देश के लिए बलिदान दिया है तो उसके परिवार को पूरा इंश्योरेंस कवर मिलेगा। इसके अंतर्गत शहीद के परिवार को सेवा निधि सहित लगभग एक करोड़ रुपये की राशि मिलेगी। शहीद की बची हुई सेवा की पूरी सैलरी भी परिवार को मिलेगी.

दिव्यांग होने के स्थिति में मुआवजा 

  • अगर कोई अग्निवीर सेवा के दौरान 100% अपंग हो जाता है तो उसे मुआवज़े के रूप में 44 लाख रूपये एकमुश्त देय होगे.
  • अगर कोई अग्निवीर सेवा के दौरान 75% अपंग हो जाता है तो उसे 25 लाख रूपये की रकम मुआवज़े के रूप में दी जाएगी. 
  • इसके अलावा अगर कोई अग्निवीर सेवा के दौरान 50% अपंग हो जाता है तो उसे 15 लाख रूपये की रकम मुआवज़े के रूप में मिलेगी. 

Agneepath Agniveer PDF

Agneepath Yojana हेतु ज़रूरी दस्तावेज़

  • आधार कार्ड
  • 10वीं या 12वीं कक्षा की मार्कशीट
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी

Agnipath Yojana के मुख्य बिंदु

योजना का नाम अग्निपथ योजना (Agneepath Yojana)
योजना की शुरुआत कब हुई जून 2022 में
किसने आरंभ की केंद्र सरकार ने
किस मंत्रालय द्वारा संचालित की जा रही है रक्षा मंत्रालय द्वारा
ऑफिशियल वेबसाइट mygov.in

FAQ

अग्निपथ योजना में हाइट कितनी होनी चाहिए?

अग्निपथ योजना के तहत इंडियन आर्मी, इंडियन नेवी और इंडियन एयर फाॅर्स तीनो कमांड में भर्ती की जाएगी और तीनो कमांड में फिजिकल क्राइटेरिया अलग-अलग है जैसे इंडियन आर्मी के लिए कैंडिडेट की न्यूनतम हाइट 170 सेमी होनी चाहिए और इंडियन नेवी में भर्ती के लिए पुरुष उम्मीदवार की न्यूनतम हाइट 157 सेमी और महिला उम्मीदवार की 152 सेमी होनी चाहिए. इसके अलावा इंडियन एयर फाॅर्स में उम्मीदवार की न्यूनतम हाइट 152.5 सेमी होनी चाहिए.

अग्निवीर बनने की योग्यता क्या है?

अग्निवीर की बनने के लिए आप या तो 8वीं पास हो या 10वीं पास हो या 12वीं पास हो. इसके अलावा आईटीआई पास और डिप्लोमा पास भी अग्निपथ योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते है.

अग्निवीर में लड़कियां फॉर्म भर सकती हैं क्या?

सिर्फ लड़के ही नहीं अग्निपथ स्कीम (Agnipath Scheme) के तहत लड़कियों की भी भर्ती की जाएगी। सेना में शामिल होने वाली लड़कियां भी अग्निवीर कहलाएंगी।

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Leave a Comment