Haryana Meri Fasal Mera Byora 2022: मेरी फसल मेरा ब्यौरा रजिस्ट्रेशन

Meri Fasal Mera Byora Registration @ fasal.haryana.gov | मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना रजिस्ट्रेशन और Haryana Meri Fasal Mera Byora एप्लीकेशन फॉर्म पीडीएफ डाउनलोड करे एवं लॉगिन करे |  Meri Fasal Mera Byora Portal

Haryana Meri Fasal Mera Byora

साल 2020 में हरियाणा सरकार ने किसानो की बेहतरी के लिए मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना का शुभारंभ किया था। आज हम इस लेख के माध्यम से आपको Haryana Meri Fasal Mera Byora Yojana से जुड़ी सारी जानकारी मुहैया कराएंगे जैसे इस योजना को लागू करने का क्या उद्देश्य है, इस योजना के क्या लाभ हैं, इस योजना के लिए क्या पात्रता होनी चाहिए, इस योजना के लिए आवेदन कैसे करना है आदि. इसलिए आप इस आर्टिकल को अंत तक ज़रूर पढ़े. 

ये भी पढ़े – 

Table Of Contents

Meri Fasal Mera Byora Yojana 2022 (मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना क्या है?)

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा शुरू की गई हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के अंतर्गत हरियाणा के किसानो को अपनी फसल का पूरा ब्यौरा ऑनलाइन दर्ज करवाना आवश्यक है क्यूंकि राज्य में किसानो के लिए चलाई जा रही विभन्न प्रकार की कल्याणकारी योजनाओ का लाभ भविष्य में उन्ही किसानो को मिलेगा जिनका मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन हुआ होगा.   

इसके अलावा फसलों को मंडी में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए भी मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन जरूरी है। यदि पोर्टल पर फसल का ब्योरा नहीं है तो खरीद नहीं होगी। प्रदेश सरकार की ओर से मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के बारे में राज्य के किसानो को अधिक से अधिक जागरूक करने के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है ताकि अधिक से अधिक किसान अपनी फसल का ब्यौरा दे सकें।

कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उप निदेशक डा. जसविंद्र सैनी का कहना है कि हरियाणा सरकार ने किसानों को उनकी फसलों का उचित मूल्य प्रदान करने व विभिन्न सरकारी योजनाओं के तहत लाभ देने के उद्देश्य से मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल (Meri Fasal Mera Byora Portal) का आरंभ किया गया है। हर किसान के लिए पंजीकरण करवाना अनिवार्य किया गया है। इस पोर्टल पर खरीफ की फसलों का पंजीकरण भी आरंभ हो चुका है।

पोर्टल पर किसान द्वारा प्रत्येक खेत का विवरण दर्ज करवाया जाना जरूरी है। इसके अलावा यदि कोई फसल नहीं बोई गई है तब भी किसानो को मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल (Meri Fasal Mera Byora Portal) पर जानकारी देना आवश्यक है। किसान जल्द से जल्द मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण करवा लें ताकि उन्हें हरियाणा सरकार की ओर से किसानो के भले के लिए चलाई जा रही योजनाओ का लाभ सही समय पर मिल सके और उन्हें किसी दिक्कत का सामना न करना पड़े।

आपकी जानकारी के लिए बता दे की मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आपको किसी भी सरकारी दफ्तर के चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। बल्कि आप घर बैठे अपने मोबाइल या लैपटॉप से ऑनलाइन ही मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर आवेदन कर सकेंगे। इस पोर्टल के माध्यम से हरियाणा के किसानों को एक ही जगह पर सारी सरकारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

पोर्टल पर फसलों के पंजीकरण कराने में मतलौडा जिला सबसे आगे

सूत्रों के मुताबिक किसान मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण करने में कम रुचि ले रहे हैं। जबकि हरियाणा सरकार पहले ही कह चुकी है कि किसानों को फसलों पर दी जाने वाली सरकारी योजनाओं का लाभ तभी मिलेगा, जब किसान मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के अंतर्गत पोर्टल पर अपनी फसल का पंजीकरण करवाएंगे। इसके अलावा फसलों की खरीद और बिक्री के लिए भी पोर्टल पर पंजीकरण जरूरी है। इसलिए किसानो को चाहिए की जल्द से जल्द मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर अपनी फसल का पंजीकरण करवा ले. 

बता दे की प्रदेश में अब तक 43.7 प्रतिशत किसानों ने ही मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के अंतर्गत आवेदन किया है। अगर जिलेवार देखा जाए तो मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण करवाने वाले किसानों में मतलौडा सबसे आगे, पानीपत दूसरे और इसराना तीसरे नंबर पर है। मतलौडा के 2070 किसानों ने, पानीपत के 1642 किसानों ने, समालखा के 834 किसानों ने पोर्टल पर पंजीकरण करवाया है।

Meri Fasal Mera Byora Yojana के लाभ एवं विशेषताएं 

  • किसानों को फसलों पर दी जाने वाली सरकारी योजनाओं का लाभ तभी मिलेगा, जब किसान मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के अंतर्गत पोर्टल पर अपनी फसल का पंजीकरण करवाएंगे।
  • इसके अलावा फसलों की खरीद और बिक्री के लिए भी पोर्टल पर पंजीकरण जरूरी है।

Meri Fasal Mera Byora Yojana का उद्देश्य 

  • किसान का पंजीकरण, फसल का पंजीकरण, खेत का ब्यौरा और फसल का ब्यौरा.
  • किसानों के लिए एक ही जगह पर सारी सरकारी सुविधाओं की उपलब्धता और समस्या निवारण के लिए एक अनूठा प्रयास.
  • कृषि संबंधित जानकारियाँ समय पर उपलब्ध करना.
  • खाद्य , बीज ,ऋण व कृषि उपकरणों की सब्सिडी समय पर उपलब्ध करवाना.
  • फसल की बिजाई-कटाई का समय व मंडी संबंधित जानकारी उपलब्ध करना.
  • प्राकृतिक आपदा-विपदा के दौरान सही समय पर सहायता दिलाना.

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना 2022 हेतु पात्रता

  • हरियाणा के किसानो के अलावा पडोसी राज्य के ऐसे किसान जिनकी ज़मीन हरियाणा में है वों भी इस योजना के पात्र है.

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना 2022 के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पहचान पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • ज़मीन के कागज़ात
  • पासपोर्ट साइज फोटो

Haryana Meri Fasal Mera Byora Yojana के मुख्य बिंदु

योजना का नाम मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना
योजना की शुरुआत कब हुई 2020 में 
किसने आरंभ की हरियाणा सरकार ने
किस मंत्रालय के देखभाल में चलाई जा रही हैं कृषि एवं किसान कल्याण विभाग
लाभार्थी राज्य के किसान
योजना का लाभ
  • किसानो को उनकी फसलों का उचित मूल्य प्रदान करना
  • किसानो के लिए चलाई जा रही विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ सही समय पर किसानो तक पहुंचना
आधिकारिक वेबसाइट fasal.haryana.gov.in

Haryana Meri Fasal Mera Byora Registration (मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के लिए आवेदन कैसे करें?)

Haryana Meri Fasal Mera Byora 

Meri Fasal Mera Byora Registration 

Meri Fasal Mera Byora Portal

  • मोबाइल नंबर दर्ज करे
  • कैप्चा कोड भरे 
  • लॉग इन के विकल्प पर क्लिक करे
  • अब आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजा जायेगा
  • ओटीपी दर्ज करके मोबाइल नंबर सत्यापित करे
  • अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आ जायेगा.
  • आवेदन फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी दर्ज करे.
  • सम्बंधित दस्तावेज़ अपलोड करे और सबमिट के बटन पर क्लिक करे.
  • इस प्रकार आपका मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण हो जायेगा. 

आवेदन फॉर्म को प्रिंट कैसे करे?

  • ऋतू चुने 
  • अंग्रेजी में नाम दर्ज करे 
  • मोबाइल नंबर दर्ज करे 
  • बैंक खाता संख्या दर्ज करे 
  • प्रिंट करे के विकल्प पर क्लिक करे
  • इस प्रकार आप आवेदन फॉर्म का प्रिंट आउट निकाल सकते है. 

बैंक विवरण बदलने की प्रक्रिया

 

  • अब  बैंक विवरण बदले (हरियाणा) के विकल्प पर क्लिक करे. 
  • अब एक नया पेज खुलकर आयेगा.
  • मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड दर्ज करे और जारी रखे के विकल्प पर क्लिक करे. 
  • अब आपके सामने बैंक की डिटेल्स बदलने का ऑप्शन आयेगा.
  • इस प्रकार आप बैंक की डिटेल्स चेंज कर सकते है. 

फसल के नुकसान की सूचना देने की प्रक्रिया

  • मोबाइल नंबर का विकल्प चुने और मोबाइल नंबर दर्ज करे 
  • कैप्चा कोड दर्ज करे और लॉग इन के विकल्प पर क्लिक करे. 
  • अब आपके सामने फसल के नुकसान की जानकारी दर्ज करने का फॉर्म खुलकर आयेगा.
  • इस प्रकार आप फसल क्षतिपूर्ति की सूचना दर्ज कर सकते है. 

 

पड़ोसी राज्य के किसानो (जिनकी ज़मीन हरियाणा में है) द्वारा आवेदन करने की प्रक्रिया

Haryana Meri Fasal Mera Byora

मेरी फसल मेरा ब्यौरा हरियाणा

  • मोबाइल नंबर दर्ज करे
  • कैप्चा कोड भरे 
  • जारी रखे के बटन पर क्लिक करे
  • अब आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजा जायेगा
  • ओटीपी दर्ज करके मोबाइल नंबर सत्यापित करे
  • अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आ जायेगा.
  • आवेदन फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी दर्ज करे.
  • सम्बंधित दस्तावेज़ अपलोड करे और सबमिट के बटन पर क्लिक करे.
  • इस प्रकार आपका मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण हो जायेगा. 

दूसरे राज्य के किसान आवेदन फॉर्म को प्रिंट कैसे करे?

 

  • ऋतू चुने 
  • अंग्रेजी में नाम दर्ज करे 
  • मोबाइल नंबर दर्ज करे 
  • बैंक खाता संख्या दर्ज करे 
  • प्रिंट करे के विकल्प पर क्लिक करे
  • इस प्रकार दूसरे राज्य के किसान आवेदन फॉर्म का प्रिंट आउट निकाल सकते है. 

दूसरे राज्य के किसानो द्वारा बैंक विवरण बदलने की प्रक्रिया

 

ये भी पढ़े – 

Haryana Meri Fasal Mera Byora Yojana Helpline Number / Toll Free Number

यदि आप इस योजना से संबंधित किसी प्रकार की समस्या का सामना कर रहे हैं तो आप नीचे दिए गए टोल फ्री नंबर पर संपर्क करे

Toll Free Number

  • 1800 180 2117
  • 1800 180 2060
 

FAQ

 
फसल पंजीकरण कैसे चेक करें?

फसल का पंजीकरण करने के लिए आपको सबसे पहले मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल fasal.haryana.gov.in जाना होगा. पोर्टल पर आने के बाद आपको किसान अनुभाग के विकल्प पर क्लिक करना होगा. अब आप किसान पंजीकरण (हरियाणा) के ऑप्शन क्लिक करके फसल का पंजीकरण कर सकते है.

मेरी फसल मेरा ब्यौरा की लास्ट डेट क्या है?

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के तहत फसल का पंजीकरण करने के अंतिम तिथी 31 अगस्त 2022 है.

Leave a Comment