Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Loco Pilot Kaise Bane 2024: योग्यता, आयु सीमा, चयन प्रक्रिया, सैलरी व आवश्यक दस्तावेज़

loco pilot kaise bane, loco pilot salary in india, assistant loco pilot syllabus, assistant loco pilot salary, loco pilot eligibility, assistant loco pilot qualification, assistant loco pilot eligibility, railway loco pilot salary per month, loco pilot salary in 7th pay, railway loco pilot age limit, alp loco pilot syllabus

loco pilot kaise bane

औसतन, एक सामान्य ट्रेन में 10,000 से अधिक यात्री और कई तरह के सामान होते हैं. 10000 से अधिक लोगों को सफलतापूर्वक उनकी मंजिल तक पहुँचाने की जिम्मेदारी लोको पायलट के कंधो पर होती है, जो अचूक कर्तव्यों और अपनी जिम्मेदारियों को निभाते हुए अपने काम को बखूबी अंजाम देता है लेकिन हम में से कितने लोगों को पता होता है कि लोको पायलट क्या है और लोको पायलट बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए? तो आइये विस्तार से जानते है की लोको पायलट क्या होता है और Loco Pilot Kaise Bane.

लोको पायलट कौन होते है? (Who is a Loco Pilot)

ट्रेन को चलाने और सफर के दौरान ट्रेन के उचित रखरखाव की जिम्मेदारी लोको पायलट की होती है. लोको पायलट का पद भारतीय रेलवे में एक सीनियर पद होता है इसलिए कोई भी उम्मीदवार सीधे तौर पर लोको पायलट नहीं बन सकता है बल्कि उम्मीदवार को लोको पायलट बनने के लिए असिस्टेंट लोको पायलट बनना होता है. असिस्टेंट लोको पायलट के पद पर चयनित होने के बाद उम्मीदवार को सीनियर लोको पायलट के पद पर प्रमोट किया जाता है.

असिस्टेंट लोको पायलट की नियुक्ति के लिए भारतीय रेलवे हर साल एंट्रेंस टेस्ट का आयोजन करती हैं. जिसके बाद चयनित उम्मीदवार को कुछ समय पश्चात लोको पायलट के पद पर नियुक्त कर दिया जाता है.

लोको पायलट का काम क्या होता है? (Loco Pilot Work Profile)

लोको पायलट का काम जिम्मेदारी भरा होता है क्योंकि हजारों यात्रियों की सुरक्षा लोको पायलट पर ही निर्भर करती है इसलिए लोको पायलट को अपना काम बड़ी ही समझदारी से अंजाम देना होता है. अगर लोको पायलट के काम की बात करें तो, लोको पायलट के काम में कई महत्वपूर्ण ऑपरेशन करना शामिल होते है जैसे लोकोमोटिव इंजन के कार्य करने की उचित क्षमता को बनाए रखना, ट्रेन में मरम्मत और रखरखाव के कार्यों को करना, सिग्नल परिवर्तन का निरीक्षण करना, अन्य रेलवे अधिकारियों के साथ बातचीत करना, आपातकाल की स्थिति में जब वरिष्ठ अधिकारियों से संपर्क न हो पाए तो ट्रेन के सबसे पिछले डिब्बे में मौजूद गार्ड के साथ संवाद करके सूझ बूझ से सही फैसला लेना आदि.

असिस्टेंट लोको पायलट बनने के लिए योग्यता (Railway Loco Pilot Qualification)

उपरोक्त जानकारी के अनुसार, आपको पता चल गया होगा कि लोको पायलट बनने के लिए उम्मीदवार को पहले असिस्टेंट लोको पायलट के पद पर चयनित होना पड़ता है. इसके बाद उम्मीदवार को लोको पायलट के पद पर प्रमोट किया जाता है. इसलिए असिस्टेंट लोको पायलट बनने के लिए उम्मीदवार के पास नीचे दी गई निम्न ट्रेड में से किसी एक में आई.टी.आई सर्टिफिकेट / डिप्लोमा / डिग्री होनी चाहिए.

  • इलेक्ट्रिशियन
  • इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिक
  • फिटर
  • हिट इंजन
  • इंस्ट्रूमेंट मैकेनिक
  • मशीनिस्ट
  • मैकेनिक डीजल
  • मैकेनिक मोटर व्हीकल
  • मिल राइट मेंटेनेंस मैकेनिक
  • मैकेनिक रेडियो एंड टीवी
  • रेफ्रिजरेशन एंड एयर कंडीशनिंग मैकेनिक
  • ट्रैक्टर मैकेनिक
  • टर्नर
  • वायरमैन
  • आर्मेचर एंड कोईल विंडर
  • मैकेनिकल इंजीनियरिंग
  • इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
  • इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग
  • ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग आदि.

असिस्टेंट लोको पायलट बनने के लिए आयु सीमा

असिस्टेंट लोको पायलट बनने के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 18 वर्ष निर्धारित की गई है और अधिकतम आयु 28 वर्ष निर्धारित की गई है.

अधिकतम आयु सीमा में छूट

आरक्षित श्रेणी को आवेदन हेतु अधिकतम आयु सीमा में नियमानुसार छूट दी जाती है. जो इस प्रकार है :-

श्रेणीअधिकतम आयु सीमा में छूट
एस.सी / एस.टी 5 वर्ष
ओ.बी.सी3 वर्ष
एक्स-सर्विस मैन3 वर्ष
विकलांग (सामान्य श्रेणी)10 वर्ष
विकलांग (ओ.बी.सी श्रेणी)13 वर्ष
विकलांग (एस.सी / एस.टी श्रेणी)15 वर्ष
जम्मू कश्मीर के कैंडिडेट्स5 वर्ष
रेलवे में ग्रुप सी और ग्रुप डी के पद पर चयनित उम्मीदवार (सामान्य श्रेणी)40 वर्ष की आयु तक
रेलवे में ग्रुप सी और ग्रुप डी के पद पर चयनित उम्मीदवार (ओ.बी.सी श्रेणी)43 वर्ष की आयु तक
रेलवे में ग्रुप सी और ग्रुप डी के पद पर चयनित उम्मीदवार (एस.सी / एस.टी श्रेणी)45 वर्ष की आयु तक
ऐसे उम्मीदवार जो अर्ध-प्रशासनिक कार्यालयों में काम कर रहे हैं जैसे रेलवे संगठन, रेलवे कैंटीन, सहकारी समाज और संस्थान5 वर्ष
विधवा या तलाकशुदा महिला (सामान्य श्रेणी)35 वर्ष की आयु तक
विधवा या तलाकशुदा महिला (ओ.बी.सी श्रेणी)38 वर्ष की आयु तक
विधवा या तलाकशुदा महिला (एस.सी / एस.टी श्रेणी)40 वर्ष की आयु तक

Loco Pilot Kaise Bane (लोको पायलट कैसे बने)

  • आवेदन: रेल भर्ती बोर्ड जब असिस्टेंट लोको पायलट के पदों पर वैकेंसी निकालता है तब आपको RRB की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर असिस्टेंट लोको पायलट (ALP) के पद के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा.
  • आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज़: आवेदन करने के लिए उम्मीदवार के पास निम्न दस्तावेज़ो का होना आवश्यक है. जैसे आधार कार्ड / वोटर आईडी कार्ड / पासपोर्ट / राशन कार्ड / पैन कार्ड / अन्य कोई शासकीय दस्तावेज आईडेंटिटी प्रूफ के लिए, 10वीं की मार्कशीट (जन्मतिथि का प्रमाण के रूप में), शैक्षणिक दस्तावेज, जाति प्रमाण पत्र (आरक्षित श्रेणी हेतु), विकलांग प्रमाण पत्र (विकलांगता की स्थिति में), मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ, सिग्नेचर आदि.
  • परीक्षा: सफलतापूर्वक आवेदन होने के बाद उम्मीदवार को कंप्यूटर आधारित बहुविकल्पीय परीक्षा (सी.बी.टी) देनी होगी.
  • डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन: परीक्षा में सफल होने के बाद उम्मीदवार को दस्तावेज़ सत्यापन के लिए बुलाया जायेगा.
  • मेडिकल एग्जामिनेशन: डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन होने के बाद उम्मीदवार का मेडिकल फिटनेस टेस्ट कराया जाता है. मेडिकल फिटनेस टेस्ट में निम्न प्रकार के टेस्ट कराये जाते है. जैसे आँखों का टेस्ट, सुनने का टेस्ट, छाती का एक्स-रे, ECG, मधुमेह परीक्षण, कलर ब्लाइंडनेस टेस्ट आदि.
  • ट्रेनिंग: मेडिकल एग्जामिनेशन में सफल होने के बाद उम्मीदवार को ट्रेनिंग प्रक्रिया से गुज़रना होता है.
  • नियुक्ति: ट्रेनिंग पूर्ण होने के बाद कैंडिडेट को असिस्टेंट लोको पायलट के पद पर नियुक्त किया जाता है.  नए भर्ती युवाओं को सबसे पहले मालगाड़ी संचालन की जिम्मेदारी मिलती है. यहां की सकारात्मक रिपोर्ट आने के बाद पैसेंजर ट्रेन चलाने का मौका मिलता है.
  • प्रमोशन: Assistant Loco Pilot (ALP) बनने के कुछ समय पश्चात उम्मीदवार के प्रदर्शन को देखते हुए भारतीय रेलवे उम्मीदवार को लोको पायलट (Loco Pilot) के पद पर प्रमोट कर देता है.

एग्जाम पैटर्न

चरणविषयप्रश्नों की संख्याअवधि
प्रथम चरण (सी.बी.टी)मैथमेटिक्स, जनरल इंटेलीजेंस एंड रीजनिंग, जनरल साइंस, करंट अफेयर्स7560 मिनट
द्वितीय चरण सी.बी.टी (पार्ट-ए)मैथमेटिक्स, जनरल इंटेलीजेंस एंड रीजनिंग, बेसिक साइंस एंड इंजीनियरिंग, करंट अफेयर्स100 90 मिनट
द्वितीय चरण सी.बी.टी (पार्ट-बी)सम्बंधित ट्रेड7560 मिनट

सिलेबस

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

ये भी पढ़े >> लेखपाल कैसे बने

लोको पायलट की सैलरी (Indian Railway Loco Pilot Salary)

7वें वेतन आयोग के प्रावधानों के अनुसार असिस्टेंट लोको पायलट की सैलरी की शुरुआत लगभग 35,000 रूपये प्रतिमाह से होती है. बाद में, अनुभव के साथ – साथ पद और वेतन में बढ़ोतरी होती रहती है. असिस्टेंट लोको पायलट से लोको पायलट बनने के बाद उम्मीदवार की सैलरी लगभग 60,000 से 70,000 रूपये प्रतिमाह हो जाती है. मूल वेतन के अलावा कई तरह के भत्ते और लाभ भी मिलते हैं.

भत्ते व सुविधाएँ

मूल वेतन के अलावा लेखपाल को महंगाई भत्ता, टेलीफोन / मोबाइल कनेक्शन, इंटरनेट सुविधा, यात्रा भत्ता तथा मकान किराया भत्ता भी उपलब्ध कराया जाता है जोकि अलग-अलग राज्यों व शहरों के अनुसार अलग-अलग हो सकते है. इन सुविधाओं के साथ साथ लोको पायलट तथा उनके ऊपर आश्रित परिवार वालों को मेडिकल सुविधा का भी लाभ मिलता है. इसके अलावा अन्य कई प्रकार के भत्ते और लाभ भी लोको पायलट को समय-समय पर मिलते रहते है.

FAQ
लोको पायलट के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है?

लोको पायलट बनने के लिए उम्मीदवार के पास मैकेनिकल / इलेक्ट्रॉनिक्स / इलेक्ट्रिकल / ऑटोमोबाइल फ़ील्ड्स में आई.टी.आई सर्टिफिकेट या पॉलिटेक्निक डिप्लोमा या बी.ई / बी.टेक की डिग्री होनी चाहिए.

लोको पायलट कौन से ग्रुप में आता है?

भारतीय रेलवे में सीनियर पद होने की वजह से लोको पायलट का पद ग्रुप बी केटेगरी के अंतर्गत आता है. गौरतलब है कि लोको पायलट बनने के लिए उम्मीदवार को सबसे पहले असिस्टेंट लोको पायलट के पद नियुक्त होना पड़ता है.

लोको पायलट कितने घंटे काम करता है?

लोको पायलट सप्ताह में चालीस घंटे काम करते हैं. चूंकि ट्रेनें दिन में 24 घंटे चलती हैं, हालांकि, उनकी शिफ्ट में शाम, रात, सप्ताहांत और छुट्टियां भी शामिल होती हैं.

मैं 12वीं के बाद लोको पायलट कैसे बन सकता हूं?

12वीं के बाद लोको पायलट बनने के लिए उम्मीदवार के पास मैकेनिकल / इलेक्ट्रॉनिक्स / इलेक्ट्रिकल / ऑटोमोबाइल जैसे विषयों में से किसी एक में आई.टी.आई सर्टिफिकेट / पॉलिटेक्निक डिप्लोमा / बीटेक की डिग्री होनी चाहिए.

मैं 10वीं के बाद लोको पायलट कैसे बन सकता हूं?

10वीं करने के बाद उम्मीदवार को मैकेनिकल / इलेक्ट्रॉनिक्स / इलेक्ट्रिकल / ऑटोमोबाइल में से किसी एक स्ट्रीम में आईटीआई सर्टिफिकेट / पॉलिटेक्निक डिप्लोमा हासिल करना होगा.

निष्कर्ष

उम्मीद है कि आपको उपरोक्त जानकारी के माध्यम से इंडियन रेलवे में Loco Pilot Kaise Bane के बारे में सम्पूर्ण जानकारी मिल गई होगी. अगर Loco Pilot बनने से सम्बंधित आपके मन में कोई भी सवाल या शंका है तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर पूछ सकते है.

होम पेज पर जाने के लिए क्लिक करे

लेटेस्ट अपडेट
Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Leave a Comment