Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

राजस्थान चिरंजीवी योजना रजिस्ट्रेशन 2023, लाभ व पात्रता: Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana Rajasthan Online Registraion

mukhyamantri chiranjeevi yojana rajasthan, rajasthan chiranjeevi swasthya yojana 2023, चिरंजीवी योजना में अपना नाम कैसे देखें, चिरंजीवी योजना बीमारी लिस्ट, मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना राजस्थान रजिस्ट्रेशन 2023, चिरंजीवी योजना के लाभ, जन आधार कार्ड चिरंजीवी योजना, चिरंजीवी योजना कार्ड डाउनलोड, mukhyamantri chiranjeevi yojana card download, chiranjeevi yojana status, मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना राजस्थान हॉस्पिटल लिस्ट

Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana Rajasthan

’’राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी ने कहा था कि हर आंख का आंसू पोंछ दिया जाये. जब तक आंसू और दर्द है, हमारा काम समाप्त नहीं होगा’’ बापू की इसी मंशा को साकार करने के लिए राजस्थान सरकार द्वारा 2021-22 के बजट में प्रदेश वासियों के लिए मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना की घोषणा की गई. ताकि प्रदेश के नागरिकों को साधारण एवं गंभीर बीमारीयों के ईलाज में पैसे की कोई बाध्यता ना हो.

इसलिए आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana Rajasthan के बारे में सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएंगे. जैसे इस योजना को लागू करने का क्या उद्देश्य है?, इस योजना के क्या लाभ है?, इस योजना का लाभ लेने के लिए कौन-कौन पात्र है?, इस योजना के लिए आवेदन कैसे करना है? आदि. अगर आप इस योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी चाहते हैं तो, इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें.

Table Of Contents

Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana Rajasthan 2023

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि स्वास्थ्य पर होने वाला खर्च आर्थिक तंगी से जूझ रहे प्रत्येक परिवार की सबसे बड़ी चिंताओ में से एक है. इसी समस्या को ध्यान में रखकर राजस्थान सरकार ने एक माननीय पहल करते हुए 1 मई 2021 को राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के लिए मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना की शुरुआत की है. इस योजना के तहत राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को प्रतिवर्ष 25 लाख रुपए तक का इलाज नि:शुल्क और कैशलेस मिलता है.

जी हां, राज्य के ऐसे परिवार, जों पैसे की तंगी की वजह से अपना इलाज सही ढंग से नहीं करा पाते हैं उन्हें राजस्थान सरकार द्वारा हर साल 25 लाख रुपए तक का इलाज मुफ्त में मुहैया कराया जाएगा. इस योजना के सफल क्रियान्वयन की जिम्मेदारी राज्य सरकार ने चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग को सौंपी है.

प्रदेश के नागरिकों को चिकित्सा पर लगने वाले बड़े खर्चो से मुक्त करके उत्तम स्वास्थ्य उपलब्ध कराने के मकसद से इस योजना को अमलीजामा पहनाया गया है ताकि तकलीफ एवं गंभीर बीमारी के ईलाज में पैसे की कोई दिक्कत ना हो.

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि “राजस्थान सरकार सदैव प्रदेश के नागरिकों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए अग्रसर रही है. राजस्थान ने पूर्व में भी प्रदेश में निःशुल्क दवा एवं निःशुल्क जांच योजना का सफल संचालन किया जा रहा है जिससे राज्य के सरकारी अस्पतालों में आमजन को निःशुल्क दवां एवं जांच का लाभ मिल रहा है. उन्होंने आगे कहा कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना राजस्थान के तहत राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों का सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ प्राइवेट अस्पतालों में साधारण बीमारी से लेकर गंभीर बीमारी तक का इलाज पूर्णत: नि:शुल्क और कैशलेस होगा.”

इस योजना के अंतर्गत सामान्य बीमारियों से लेकर हार्ट स्टंट, बायपास सर्जरी, कैंसर, न्यूरो, कोविड, ब्लैक फंगस और डायलिसिस जैसी गंभीर बीमारियों का इलाज पूर्णत: निशुल्क और कैशलेस किया जाएगा. इसके अलावा हाल ही में इस योजना में हार्ट ट्रांसप्लांट, लीवर ट्रांसप्लांट, किडनी ट्रांसप्लांट, बोन मैरो ट्रांसप्लांट, कॉकलियर इम्प्लांट, घुटना प्रत्यारोपण जैसे नए पैकेजेज भी जोड़े गए हैं.

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य योजना राजस्थान 2023 का लाभ लेने के लिए पात्र उम्मीदवार को ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा. आवेदन करने के लिए कौन-कौन पात्र है?, आवेदन करने के लिए कौन कौन से दस्तावेजों की आवश्यकता होगी?, आवेदन कैसे करना है और आवेदन करने के बाद इस योजना का लाभ किस प्रकार लेना है?. इन सभी के बारे में सम्पूर्ण जानकारी इस आर्टिकल में दी गई है इसलिए आप इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जब इस योजना की शुरुआत की गई थी. उस वक्त इस योजना के तहत पात्र परिवारों को प्रति वर्ष 5 लाख रूपये तक का इलाज ही नि:शुल्क और कैशलेस मिल रहा था लेकिन बाद में माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा वर्ष 2022 – 23 के बजट में इस राशी को प्रति वर्ष 5 लाख से बढाकर 10 लाख तक कर दिया गया था. फिर 2023 – 24 के बजट में इस राशी को प्रति वर्ष 10 लाख से बढाकर 25 लाख तक कर दिया गया है.

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

ये भी पढ़े >> मुख्यमंत्री वर्क फ्रॉम होम योजना राजस्थान

क्या होता है कैशलेस इलाज?

मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना के तहत 25 लाख रुपए तक का इलाज नि:शुल्क और कैशलेस होगा. कैशलेस से तात्पर्य है कि अगर आप इस योजना के अंतर्गत इलाज कराते हैं तो आपको एक भी रुपया देने की जरूरत नहीं होगी. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अगर इस योजना के तहत इलाज केवल निशुल्क होता तो, आपको इलाज के समय पैसे देने पड़ते और फिर वों पैसा आपको रिफंड के रूप में वापस मिलता. लेकिन राजस्थान सरकार ने इस योजना को आमजन के लिय इतना सुगम बना दिया है कि आपको इलाज के लिए एक भी रुपया देने की ज़रुरत नही होगी.

मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • गौरतलब है कि इस योजना को राजस्थान सरकार द्वारा आर्थिक तंगी से जूझ रहे परिवारों के लिए शुरू किया गया है.
  • इस योजना के तहत ऐसे परिवारों को प्रतिवर्ष 25 लाख रूपये तक का इलाज नि:शुल्क और कैशलेस उपलब्ध कराया जाता है.
  • इस योजना के अंतर्गत पात्र परिवार सरकारी अस्पतालों के अलावा प्राइवेट अस्पतालों में भी अपना इलाज नि:शुल्क और कैशलेस करा सकते हैं.
  • इस योजना के अंतर्गत हार्ट, कैंसर, न्यूरो, कोविड, ब्लैक फंगस जैसे गंभीर बीमारियों एवं कॉकलियर इम्प्लांट, बोन मैरो ट्रांसप्लांट, किडनी ट्रांसप्लांट, हार्ट ट्रांसप्लांट, लिवर ट्रांसप्लांट, घुटना प्रत्यारोपण और डायलिसिस जैसे महंगे इलाज भी नि:शुल्क और कैशलेस किए जा रहे हैं.
  • इसके अलावा पंजीकरण शुल्क, बिस्तर व्यय, भर्ती व्यय तथा नर्सिंग व्यय, शल्य चिकित्सा, संवेदनाहरण विशेषज्ञ तथा सामान्य चिकित्सा का परामर्श शुल्क, संवेदनाहरण, (Anaesthesia) रक्त, ऑक्सीजन, ओ.टी आदी का व्यय, औषधियों का व्यय, एक्स-रे तथा जॉंच पर व्यय, संचारी रोगो से अस्पताल के स्टाफ एवं मरीज के बचाव के लिए आवश्यक उपकरण / उपायों पर होने वाला व्यय, चिकित्सा प्रक्रिया से पूर्व 5 दिन तथा अस्पताल से छुट्टी के पश्चात् के 15 दिन का परामर्श व्यय , जांच एवं दवाएं व्यय सब कुछ सरकार की तरफ से देय होगा.
  • बता दें कि इस योजना के तहत पात्र परिवारों के इलाज की सारी रकम प्रदेश सरकार द्वारा वहन की जाएगी.
  • राजस्थान चिरंजीवी योजना के तहत अब तक
    • कैंसर के 1,31,000 से अधिक मरीज लाभान्वित हुए है.
    • कोरोनरी स्टेंट से 35,000 से अधिक मरीज लाभान्वित हुए है.
    • हृदय रोग के 55,000 से से अधिक मरीज लाभान्वित हुए है.
    • हीमोडायलिसिस के 3 लाख 42 हजार से अधिक नि:शुल्क सेशन हुए हैं.
  • इस योजना के तहत अब तक 29,48,207 लोग नि:शुल्क इलाज से लाभान्वित हो चुके हैं.
  • इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत पंजीकृत परिवार की महिला मुखिया को इंटरनेट के साथ स्मार्टफोन भी फ्री में दिए जा रहे है.

प्रदेश के बाहर भी हो सकेगा ऑर्गन ट्रांसप्लांट…

मुख्यमंत्री ने चिरंजीवी योजना का दायरा बढ़ाने का ऐलान किया है. योजना के तहत अब ऑर्गन ट्रांसप्लांट की सुविधा प्रदेश के बाहर के हॉस्पिटल्स में भी उपलब्ध होगी. जी हां, अब आर्गन ट्रांसप्लांट की सुविधा प्रदेश के बाहर के अस्पतालों में भी उपलब्ध हो सकेगी. पहले प्रदेश के लोगों को सरकारी खर्च पर स्थानीय अस्पतालों में आर्गन ट्रांसप्लांट करवाने की सुविधा मिलती थी.

ये भी पढ़े >> मुख्यमंत्री युवा सम्बल योजना राजस्थान

राजस्थान चिरंजीवी योजना के तहत एक करोड़ से अधिक परिवार हुए पंजीकृत

Rajasthan Chiranjeevi Yojana के अंतर्गत अब तक राज्य के 12,566,245 परिवार को पंजीकृत किया जा चुका है. जो इस प्रकार है :-

श्रेणीपंजीकृत परिवारों की संख्या
लघु और सीमांत किसान परिवार1,203,407
समस्त विभागो / बोर्ड / निगम / सरकारी कंपनियों के संविदाकर्मी54,122
राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के पात्र परिवार10,974,079
सामाजिक आर्थिक जनगणना (SECC 2011) के पात्र परिवार7,484
कोविड-19 अनुग्रह (Covid-19 ExGratia) राशि प्राप्त करने वाले परिवार327,153

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य योजना को लागू करने के मुख्य उद्देश्य

  • पात्र परिवारो के बीमारियों के इलाज पर होने वाले खर्चे को कम करना.
  • पात्र परिवारो का राजकीय अस्पतालो के साथ-साथ योजना में सम्बद्ध प्राइवेट अस्पतालों के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण एवं विषेशज्ञ चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराना.
  • राज्य के पात्र परिवारो को योजना में वर्णित पैकेज से संबंधित बीमारियो का निःशुल्क ईलाज उपलब्ध करवाना.

Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana का पूर्णत नि:शुल्क लाभ लेने के लिए कौन-कौन पात्र है?

  • जनरल, OBC, MBC, SC, ST सभी वर्गों के 8 लाख रुपये वार्षिक आय से कम वाले सभी परिवार चिंरजीवी योजना का लाभ नि:शुल्क ले सकते है.
  • खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के अन्तर्गत पात्र लाभार्थी परिवार
  • सामाजिक आर्थिक जनगणना (SECC) 2011 के पात्र परिवार
  • प्रदेश के समस्त विभागों / बोर्ड / निगम / सरकारी कम्पनी में कार्यरत संविदाकर्मी
  • लघु एवं सीमांत किसान
  • गत वर्ष कोविड-19 अनुग्रह (Covid-19 ExGratia) राशि प्राप्त करने वाले निराश्रित एवं असहाय परिवार
    • Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Yojana में परिवार के आकार एवं आयु की कोई सीमा नहीं है यानी एक वर्ष तक के शिशु बिना परिवार कार्ड में नाम के भी इस योजना का लाभ लेने के लिए अधिकृत होंगे.

अब 8 लाख रूपये से कम वार्षिक आय वाले परिवार भी ले सकेगे नि:शुल्क लाभ

2023 के बजट में राजस्थान सरकार ने चिरंजीवी योजना में निशुल्क पंजीकरण का दायरा बढ़ा दिया है जी हां, अब जनरल, OBC, MBC, SC, ST सभी वर्गों के 8 लाख रुपये वार्षिक आय से कम वाले राज्य के सभी परिवार मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना के तहत प्रति वर्ष 25 लाख रूपये तक का नि:शुल्क इलाज करा सकेगे.

Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana Rajasthan हेतु आवश्यक दस्तावेज़

  • आधार कार्ड
  • जनआधार कार्ड / जनआधार कार्ड नम्बर / जनआधार कार्ड की पंजीयन रसीद का नम्बर 
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

ये भी पढ़े >> मुख्यमंत्री कन्यादान योजना राजस्थान

Highlights

योजना का नाममुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य योजना
किसने आरंभ की गईराजस्थान सरकार ने
शुभारंभ कब हुआ1 मई 2021
लाभपात्र परिवारों को पूर्णत: निशुल्क और कैशलेस 25 लाख रूपये तक का इलाज उपलब्ध कराना
उद्देश्यआर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के बीमारी के इलाज पर होने वाले खर्चे को कम करना
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
ऑफिशियल वेबसाइटchiranjeevi.rajasthan.gov.in

Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana Rajasthan 2023 के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

  • लघु एवं सीमांत क्षेत्र के ऐसे किसान जो जन-आधार कार्ड से जुड़े हुए नहीं है, वें अपने नजदीकी किसी भी ई-मित्र केंद्र के माध्यम से जन-आधार पोर्टल पर निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार जन-आधार कार्ड में Land Holding की सीडिंग करवा सकते है. सीडिंग के बाद किसान इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण करवा सकते है.
  • इस योजना में पंजीकरण कराने के लिए आवेदक के पास या तो स्वयं की एस.एस.ओ आई.डी (SSO ID) होनी चाहिए, अगर आवेदक के पास स्वयं की एस.एस.ओ आई.डी (SSO ID) नही है तो आवेदक अपने नज़दीक किसी भी ई.मित्र केंद्र पर जाकर इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं.
  • आपकी जानकारी के लिए बता दें कि खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के अंतर्गत अधिकतर पात्र परिवारों के आवेदन सरकार की तरफ से ऑटोमेटिक हो चुके हैं.
  • इसलिए जब आप आवेदन करोगे तो, अगर आपको Successfuly Registration या Already Applied लिखा हुआ दिखाई देता है तो, आपको इस योजना के तहत दोबारा आवेदन करने की कोई आवश्यकता नहीं है.
  • इसके अलावा 8 लाख रूपये से कम वार्षिक आय वाले परिवार या सामाजिक आर्थिक जनगणना (SECC) 2011 के पात्र परिवारों या समस्त विभागों / बोर्ड / निगम / सरकारी कम्पनी में कार्यरत संविदाकर्मी या लघु एवं सीमांत किसान या कोविड-19 अनुग्रह (सहायता) राशि प्राप्त करने वाले निराश्रित एवं असहाय परिवारों को इस योजना के लिए आवेदन करना होगा.
  • आवेदन करने के लिए आवेदक के पास जन आधार कार्ड / जन आधार कार्ड नंबर / जन आधार कार्ड की पंजीयन रसीद का नंबर और आधार कार्ड नंबर होना आवश्यक है.
  • पंजीकरण से पूर्व आवेदक के आधार कार्ड में दर्ज मोबाइल नंबर पर ओटीपी के माध्यम से ई प्रमाणीकरण किया जाएगा. इसलिए आवेदक के पास आधार कार्ड का नंबर होना आवश्यक है.
  • संविदा कर्मियों के आवेदन का संबंधित विभाग के नोडल अधिकारी द्वारा ऑनलाइन सत्यापित किया जाएगा एवं नियमित रूप से अपडेट किया जायेगा.
  • मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना में आवेदन के लिए क्लिक करें
  • चिरंजीवी योजना में सफल पंजीकरण होने पर एक पॉलिसी का कागज ई-मित्र केन्द्र द्वारा आवेदक को दिया जाएगा।

ये भी पढ़े >> राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना राजस्थान

मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना 2023 के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन की स्थिति कैसे देखें?

  • रजिस्ट्रेशन की स्थिति देखने के लिए सबसे पहले आपको आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर जाना होगा.
rajasthan chiranjeevi yojana registration status

  • होम पेज पर आने के बाद आपको रजिस्ट्रेशन की स्थिति खोजें का ऑप्शन दिखाई देगा.
  • इस ऑप्शन पर आने के बाद आपको अपना जनाधार नंबर दर्ज करके सर्च करना है.
  • अब आपके सामने रजिस्ट्रेशन के स्टेटस की पूरी डिटेल आ जाएगी.
  • इस प्रकार आप मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना 2023 के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन की स्थिति देख सकते है.

Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana Rajasthan 2023 के अंतर्गत ज़िले-वार जुड़े अस्पतालों की सूची

जिले का नामअस्पतालों की सूची
अजमेरडाउनलोड करें
अलवरडाउनलोड करें
बांसवाड़ाडाउनलोड करें
बारां डाउनलोड करें
बाड़मेरडाउनलोड करें
भरतपुरडाउनलोड करें
भीलवाड़ाडाउनलोड करें
बीकानेरडाउनलोड करें
बूंदीडाउनलोड करें
चित्तौड़गढ़डाउनलोड करें
चूरूडाउनलोड करें
दौसाडाउनलोड करें
धौलपुरडाउनलोड करें
डूंगरपुरडाउनलोड करें
हनुमानगढ़डाउनलोड करें
जयपुरडाउनलोड करें
जैसलमेरडाउनलोड करें
जालौरडाउनलोड करें
झालावाड़डाउनलोड करें
झुंझुनूडाउनलोड करें
जोधपुरडाउनलोड करें
करौलीडाउनलोड करें
कोटाडाउनलोड करें
नागौरडाउनलोड करें
पालीडाउनलोड करें
प्रतापगढ़डाउनलोड करें
राजसमंदडाउनलोड करें
सवाई माधोपुरडाउनलोड करें
सीकरडाउनलोड करें
सिरोहीडाउनलोड करें
श्रीगंगानगरडाउनलोड करें
टोंकडाउनलोड करें
उदयपुरडाउनलोड करें

योजना का लाभ लेने की प्रक्रिया

मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना राजस्थान 2023 के तहत निःशुल्क उपचार का लाभ लेने की प्रक्रिया इस प्रकार होगी :-

  • पात्र परिवार की पहचान – पात्र परिवार की पहचान जन-आधार कार्ड नम्बर / जन-आधार ईआईडी / जन-आधार पंजीयन रसीद के माध्यम से ही की जायेगी. इसलिए इलाज के समय जन-आधार कार्ड नम्बर / जन-आधार ईआईडी / जन-आधार पंजीयन रसीद लाना आवश्यक है. इसके बाद मरीज को इलाज कराने से पहले अस्पताल के काउन्टर पर उपस्थित होकर उक्त जानकारी प्रदान करनी होगी ताकि परिवार की पात्रता सुनिश्चित की जा सके.
  • लाभार्थी की पहचान – अब मरीज की पात्रता की जांच की जायेगी. इसके लिए सॉफ्टवेयर में जन-आधार कार्ड का नंबर अथवा पंजीयन नंबर डालने पर परिवार की श्रेणी एवं सदस्यों का विवरण सॉफ्टवेयर में प्रदर्शित होगा, जिससे मरीज को चिन्हित करके मरीज का बायोमैट्रिक वेरिफिकेशन किया जायेगा.
  • अब योजना में उपलब्ध पैकेज के अनुसार मरीज का इलाज प्रारंभ किया जायेगा.
  • मरीज के अस्पताल में भर्ती एवं डिस्चार्ज के समय वैब कैमरा के सामने लाइव फोटो भी लिया जायेगा.
  • एक वर्ष तक के बच्चे के ईलाज के सम्बन्ध में प्रावधान – अगर 1 वर्ष तक के बच्चे का नाम जन आधार कार्ड में दर्ज नहीं है तो, तब भी उस परिवार के एक वर्ष तक आयु के बच्चे को योजना के अन्तर्गत नि:शुल्क इलाज दिया जाएगा. इसके लिए जन-आधार कार्ड में दर्ज परिवार के किसी भी उपलब्ध सदस्य के नाम से बच्चे की टी.आई.डी जनरेट कर ईलाज दिया जा सकता है.
  • लेकिन एक वर्ष से अधिक उम्र के बालक का नाम परिवार के जन आधार कार्ड में होना आवश्यक है. अगर 1 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चे का नाम जन आधार कार्ड में नहीं है तो, ऐसी स्थिति में परिवार किसी भी ई-मित्र केन्द्र पर जाकर उस बच्चे के जन्म के दस्तावेज प्रस्तुत करके उस बच्चे का नाम जन आधार कार्ड में जुड़वा सकते हैं. निःशुल्क इलाज जन-आधार कार्ड में नाम जुडने के पश्चात ही किया जा सकेगा.
  • 5 वर्ष तक के बच्चे के ईलाज के सम्बन्ध में प्रावधान – पांच वर्ष तक की आयु के बच्चे के ईलाज के लिए बायोमैट्रिक वेरिफिकेशन एवं फोटो पहचान पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य नहीं है. परिवार पहचान पत्र में जुडे परिवार के किसी अन्य सदस्य के बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन द्वारा बच्चे की टीआईडी जनरेट की जा सकती है.

Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana Rajasthan Tollfree Number / Helpline Number

इस योजना से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी या शिकायत के लिए आप नीचे दिए गए हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं.

  • टोल फ्री नंबर
    • 181
    • 18001806127

FAQ

चिरंजीवी योजना कब लागू हुई?

राजस्थान सरकार ने 1 मई 2021 को गरीब और वंचित परिवारों के लिए मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना की शुरुआत की थी. इस योजना के तहत लाभार्थी परिवार को प्रति वर्ष ₹2500000 तक का निशुल्क और कैशलेस इलाज उपलब्ध कराया जाता है.

चिरंजीवी योजना में क्या क्या फ्री है?

चिरंजीवी योजना के अन्तर्गत लाभार्थी को इलाज के समय निम्न सुविधाओ के लिए एक भी रुपया देने की ज़रुरत नहीं है. जो इस प्रकार है :-

1 – पंजीकरण शुल्क.
2 – बिस्तर व्यय.
3 – भर्ती व्यय तथा नर्सिंग व्यय.
4 – शल्य चिकित्सा, संवेदनाहरण विशेषज्ञ तथा सामान्य चिकित्सा का परामर्श शुल्क.
5 – संवेदनाहरण, (Anaesthesia) रक्त, ऑक्सीजन, ओ.टी आदी का व्यय.
6 – औषधियों का व्यय.
7 – एक्स-रे तथा जॉंच पर व्यय आदि.
8 – संचारी रोगो से अस्पताल के स्टाफ एवं मरीज के बचाव के लिए आवश्यक उपकरण / उपायों पर होने वाला व्यय.
9 – योजना के अन्तर्गत चिन्हित बीमारियों का इलाज जैसे सामान्य बीमारियों से लेकर हार्ट स्टंट, बायपास सर्जरी, कैंसर, न्यूरो, कोविड, ब्लैक फंगस, डायलिसिस, हार्ट ट्रांसप्लांट, लीवर ट्रांसप्लांट, किडनी ट्रांसप्लांट, बोन मैरो ट्रांसप्लांट, कॉकलियर इम्प्लांट, घुटना प्रत्यारोपण आदि.
10 – इसके अलावा चिकित्सा प्रक्रिया से पूर्व 5 दिन तथा अस्पताल से छुट्टी के पश्चात् के 15 दिन का परामर्श , जांच एवं दवाएं भी सम्मिलित है.

चिरंजीवी योजना का कार्ड कैसे बनवाएं?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चिरंजीवी योजना कार्ड को पॉलिसी के नाम से भी जाना जाता है. इसे डाउनलोड करने के लिए आपको स्वयं की एसएसओ आईडी से एसएसओ पोर्टल पर लॉग-इन करना होगा. इसके पश्चात चिरंजीवी योजना के ऑप्शन पर जाकर Registration For Chiranjeevi के ऑप्शन पर क्लिक करना है.

इसके बाद आगे की प्रक्रिया पूर्ण करते हुए जन-आधार नंबर दर्ज करके पॉलिसी डाउनलोड कर सकते है. अगर आपके पास स्वयं की एसएसओ आईडी नहीं है तो आप अपने नजदीकी किसी भी ई-मित्र केंद्र के माध्यम से भी चिरंजीवी योजना की पॉलिसी प्राप्त कर सकते हैं.

चिरंजीवी योजना का लाभ कैसे लिया जाता है?

इस योजना के तहत पूर्णत: नि:शुल्क उपचार का लाभ लेने के लिए आपका परिवार खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के पात्र परिवारों या सामाजिक आर्थिक जनगणना (SECC) 2011 के पात्र परिवारों या समस्त विभागों / बोर्ड / निगम / सरकारी कम्पनी में कार्यरत संविदाकर्मी या लघु एवं सीमांत किसान या कोविड-19 अनुग्रह (सहायता) राशि प्राप्त करने वाले निराश्रित एवं असहाय परिवारों की सूची में शामिल होना चाहिए.

आपके परिवार का नाम उपरोक्त सूची में शामिल है या नहीं यह जानने के लिए इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें. अगर आपके परिवार का नाम उपरोक्त सूची में शामिल पाया जाता है तो आपको इस योजना का लाभ लेने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर पंजीकरण कराना होगा. पंजीकरण कैसे करना है? इस बारे में भी इस आर्टिकल में बताया गया है.

क्या चिरंजीवी में गर्भावस्था शामिल है?

जी हां, चिरंजीवी योजना में बच्चे के जन्म को भी शामिल किया गया है. इसलिए गर्भावस्था महिला भी इस योजना का लाभ ले सकती है.

क्या सरकारी कर्मचारी इस योजना के तहत पंजीकरण करवा सकते हैं?

कर्मचारियों और पेंशनर्स परिवारों को CGHS की तर्ज पर RGHS की कैशलेस इलाज की सुविधा मिलती रहेगी.

एक बार चिरंजीवी योजना में रजिस्ट्रेशन कराने के बाद अगर किसी लाभार्थी को परिवार के किसी सदस्य का नाम जुड़वाना है या कटवाना है तो उसकी प्रक्रिया क्या होगी?

इसके लिए ई-मित्र केन्द्र पर जाकर जनाधार कार्ड में संशोधन करवाया जा सकता है.

क्या जिनके पास भामाशाह कार्ड है उन्हे भी जन-आधार कार्ड बनवाना होगा?

नहीं। पूर्व में जारी भामाशाह कार्ड के स्थान पर राज्य सरकार द्वारा निःशुल्क जन-आधार कार्ड वितरित किये गये है.

मेरे परिवार में कौन-कौन सदस्य इसका लाभ ले सकते है? क्या यह राशि परिवार के एक सदस्य के लिए है या सम्पूर्ण परिवार के लिए हैं?

योजना की वॉलेट राशि सम्पूर्ण परिवार के लिए हैं.

लेटेस्ट अपडेट

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Leave a Comment