मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना 2023 रजिस्ट्रेशन, पात्रता: Rajasthan Ekal Nari Samman Pension Yojana

CM Ekal Nari Samman Pension Scheme 2023, तलाकशुदा पेंशन योजना राजस्थान, परित्यक्ता पेंशन योजना, मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना राजस्थान, Mukhyamantri Ekal Nari Samman Pension Yojana Apply Online 2023

Mukhyamantri Ekal Nari Samman Pension Yojana Rajasthan

बेसहारा तलाकशुदा और विधवा युवतियों को आर्थिक मदद उपलब्ध कराने के मकसद से राजस्थान सरकार ने मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना का शुभारंभ किया है. आज हम आपको इस लेख के माध्यम से Mukhyamantri Ekal Nari Samman Pension Yojana से जुड़ी सारी जानकारी मुहैया कराएंगे जैसे इस योजना को लागू करने का क्या उद्देश्य है?, इस योजना का क्या लाभ हैं?, इस योजना का लाभ लेने के लिए कौन-कौन पात्र है?, इस योजना के लिए आवेदन कैसे करना है? आदि ! इसलिए आप इस लेख को अंत तक ज़रूर पढ़े.

Mukhyamantri Ekal Nari Samman Pension Yojana 2023

हमारे भारत देश में ऐसी बहुत सी महिलाएं हैं जिनके पति का देहांत हो चुका है या अपने पति से अलग होकर बहुत ही कठिन परिस्थितियों में गुजर बसर कर रही हैं. ऐसी बेसहारा महिलाओं को आर्थिक मदद मुहैया कराने के मकसद से केंद्र सरकार के साथ-साथ राज्य सरकारें भी कई तरह की योजनाएं चला रही हैं. जिनमें से एक है राजस्थान की मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना. राजस्थान की सरकार ने 1 जून 1974 को राज्य की निराश्रित विधवा, तलाकशुदा और परित्यक्ता महिलाओं को हर माह एक निश्चित धनराशि उपलब्ध कराने के मकसद से CM Ekal Nari Samman Pension Yojana का शुभारंभ किया था. इस योजना के संचालन की जिम्मेदारी राज्य सरकार ने सोशल जस्टिस एंड एंपावरमेंट विभाग को सौंपी है.

इस योजना के तहत राजस्थान राज्य की 18 वर्ष से अधिक निराश्रित विधवा, तलाकशुदा और परित्यक्ता महिलाओं को हर माह एक निश्चित धनराशि पेंशन के रूप में मुहैया कराई जाती है. जो इस प्रकार है :-

  • 18 वर्ष से अधिक लेकिन 55 वर्ष से कम आयु की विधवा, तलाकशुदा और परित्यक्ता महिलाओं को राजस्थान सरकार प्रतिमाह ₹500 की पेंशन प्रदान करती है. 
  • 55 वर्ष से अधिक लेकिन 60 वर्ष से कम आयु की विधवा, तलाकशुदा और परित्यक्ता महिलाओं को राजस्थान सरकार ₹750 की धनराशि पेंशन के रूप में हर महीने देती है. 
  • इसके अलावा 60 वर्ष से अधिक लेकिन 75 वर्ष से कम आयु की विधवा, तलाकशुदा और परित्यक्ता महिलाओं को राजस्थान सरकार ₹1000 की धनराशि पेंशन के रूप में हर माह मुहैया कराती है. 
  • और 75 वर्ष से अधिक आयु की विधवा, तलाकशुदा और परित्यक्ता महिलाओं को राजस्थान सरकार ₹1500 की धनराशि प्रतिमाह पेंशन के रूप में उपलब्ध कराती है. 

इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक महिला को मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा. आवेदन कैसे करना है? इस बारे में इस लेख के अंत में पूर्ण रूप से बताया गया है. इसलिए आप इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें. आवेदन करने के बाद सामाजिक न्याय एवं सशक्तिकरण विभाग द्वारा सत्यापन प्रक्रिया पूर्ण की जाएगी. सभी जानकारी सही पाए जाने पर लाभार्थी के बैंक खाते में हर माह पेंशन की धनराशि ट्रांसफर की जाएगी. 

ये भी पढ़े – 

मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना के लाभ

  • बेसहारा विधवा, तलाकशुदा और परित्यक्ता महिलाओं को आर्थिक सहायता पहुंचाने के मकसद से गहलोत सरकार ने सीएम एकल नारी सम्मान पेंशन योजना का शुभारंभ किया है. 
  • इस योजना के सफल कार्यान्वयन हेतु प्रदेश सरकार ने इस योजना के संचालन की जिम्मेदारी राज्य के सामाजिक न्याय एवं सशक्तिकरण विभाग को सौंपी है. 
  • इस योजना के तहत राजस्थान सरकार 18 वर्ष से अधिक निराश्रित विधवा, तलाकशुदा और परित्यक्ता महिलाओं को ₹500, 55 वर्ष से अधिक निराश्रित विधवा, तलाकशुदा और परित्यक्ता महिलाओं को ₹750, 60 वर्ष से अधिक निराश्रित विधवा, तलाकशुदा और परित्यक्ता महिलाओं को ₹1000 और 75 वर्ष से अधिक निराश्रित विधवा, तलाकशुदा और परित्यक्ता महिलाओं को ₹1500 हर माह पेंशन के रूप में मुहैया कराती है. 
  • इस योजना के लागू होने से राज्य की निराश्रित विधवा, तलाकशुदा और परित्यक्ता महिलाओं को एक बल मिलेगा और अपना जीवन उचित ढंग से यापन कर पाएगी.  

ये भी पढ़े – 

मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना के लिए कौन-कौन पात्र है?

  • राजस्थान की मूल निवासी 18 वर्ष या उससे अधिक की आयु की विधवा / परित्यकत्ता / तलाकशुदा महिला, जिसके जीवन निर्वाह हेतु स्वयं की नियमित आय का कोई स्रोत नहीं हो
  • समस्त स्त्रोतों से वार्षिक आय 48000 रूपये से कम हो. 
  • यदि महिला स्वयं या उसका पुत्र केंद्र सरकार / अन्य राज्य सरकार / राज्य सरकार / राजकीय उपक्रम में सेवारत हो या केंद्र सरकार / अन्य राज्य सरकार / राज्य सरकार / राजकीय उपक्रम का पेंशनर हो, तो वह महिला इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र नहीं होगी. 

ये भी पढ़े – 

Mukhyamantri Ekal Nari Samman Pension Yojana हेतु आवश्यक दस्तावेज़

  • आधार कार्ड 
  • जन-आधार / भामाशाह कार्ड 
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता विवरण 
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • आय प्रमाण पत्र
  • विधवा पेंशन हेतु पति का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • तलाकशुदा महिला पेंशन हेतु न्यायालय द्वारा जारी प्रमाण पत्र
  • परित्यकत्ता महिला पेंशन हेतु उपखंड अधिकारी / विकास अधिकारी द्वारा जारी प्रमाण पत्र

Rajasthan Ekal Nari Samman Pension Yojana के मुख्य बिंदु

योजना का नाममुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना
योजना की शुरुआत कब हुई1 जून 1974 
किसने आरंभ कीराजस्थान सरकार ने
किस मंत्रालय द्वारा संचालित की जा रही हैसामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा
लाभार्थी

विधवा / परित्यकत्ता / तलाकशुदा महिला

लाभ

पेंशन के रुप में आर्थिक सहायता उपलब्ध कराना

मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना ऑफिशियल वेबसाइटssp.rajasthan.gov.in

ये भी पढ़े – 

Mukhyamantri Ekal Nari Samman Pension Yojana 2023 के लिए आवेदन कैसे करे?

Rajasthan SSP

मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए सम्बंधित दस्तावेजों के साथ आपको अपने नजदीकी ई-मित्र केंद्र पर जाकर या अपने स्वयं के ई-मित्र खाते से ऑनलाइन आवेदन करना होगा. मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना के लिए आवेदन शुल्क ₹33 निर्धारित किया गया है. जिसे ई-मित्र के माध्यम से जमा करवाया जा सकता है. पंजीकरण होने के बाद मात्र 90 दिनों के अंदर सत्यापन प्रक्रिया पूर्ण करके पेंशन को सुचारू रूप से चालू कर दिया जाएगा और महिला लाभार्थी के बैंक खाते में हर महीने पेंशन की राशि ट्रांसफर की जाएगी. 

ये भी पढ़े – 

Mukhyamantri Ekal Nari Samman Pension Yojana Helpline Number / Tollfree Number

इस योजना से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी या शिकायत के लिए आप नीचे दिए गए हेल्पलाइन नंबर या ईमेल आईडी पर संपर्क कर सकते हैं.

  • टोल फ्री नंबर –181

  • फ़ोन नंबर – 0141-5111007, 5111010, 2740637

  • ईमेल आईडी – [email protected]

FAQ

मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना कब शुरू हुई?

राजस्थान सरकार ने राज्य की आर्थिक रुप से कमज़ोर विधवा / परित्यकत्ता / तलाकशुदा महिलाओ को आर्थिक मदद पहुचाने के मकसद से 1 जून 1974 को मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना का शुभारंभ किया था.

राजस्थान में विधवा / परित्यकत्ता / तलाकशुदा महिला को कितनी पेंशन मिलती है?

जैसा की आप सभी जानते है कि राजस्थान सरकार ने राज्य की विधवा / परित्यकत्ता / तलाकशुदा महिलाओ को आर्थिक सहायता देने के लिए 1 जून 1974 को मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना का शुभारंभ किया था. इस योजना के तहत 18 वर्ष से 55 वर्ष तक की आयु की महिला को 500 रूपये, 55 से 60 वर्ष तक की आयु की महिला को 750 रूपये, 60 से 75 वर्ष तक की आयु की महिला को 1000 रूपये एवं 75 वर्ष से अधिक की आयु की महिला को 1500 रूपये प्रतिमाह पेंशन दी जाती है.

मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए महिला की वार्षिक आय कितनी होनी चाहिए?

मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए महिला की वार्षिक आय (सभी स्त्रोतों से) 48,000 रूपये से कम होनी चाहिए.

Share this:

Leave a Comment