PM Kusum Yojana 2022: पीएम कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन

कृषक प्रधानमंत्री कुसुम योजना | PM Kusum Yojana |  2022 | Prime Minister Kusum Yojana | pm kusum yojana in hindi | pm kusum yojana upsc | pm kusum yojana लखनऊ उत्तर प्रदेश | पीएम कुसुम योजना UPSC | pm kusum yojana price list | pm kusum yojana haryana | pm kusum yojana rajasthan | pm kusum yojana up | pm kusum yojana subsidy | पीएम कुसुम योजना उत्तर प्रदेश | पीएम कुसुम योजना MP | पीएम कुसुम योजना राजस्थान | पीएम कुसुम योजना यूपी

pm kusum yojana

केंद्र सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने के लिए एक और बड़ी योजना की शुरुआत की है. इस योजना का नाम है PM KUSUM Yojana. KUSUM का मतलब है कृषि ऊर्जा सुरक्षा और उत्थान महाअभियान. इस योजना के तहत किसानो को सोलर प्लांट लगवाने के लिए भारी – भरकम अनुदान दिया जायेगा. 

इसलिए आज हम आपको इस लेख के माध्यम से पीएम कुसुम योजना से जुड़ी सारी जानकारी मुहैया कराएंगे. जैसे इस योजना के तहत कितना अनुदान मिलेगा, इस योजना को लागू करने के क्या उद्देश्य है, इस योजना का लाभ हासिल करने के लिए कौन-कौन पात्र है, इस योजना के लिए आवेदन कैसे करना है आदि. 

Table Of Contents

PM Kusum Yojana 2022 ( पीएम कुसुम योजना क्या है ? )

हमारे देश में आज भी ऐसे किसानों की संख्या काफी अधिक है, जो खेती का काम डीजल इंजन के जरिए करते है जैसे सिंचाई वैगेराह आदि. लेकिन डीज़ल इंजन का इस्तेमाल करने से किसानो पर भारी – भरकम खर्चो का बोझ पड़ता है. कई बार तो किसानो को कर्ज तक भी लेना पड़ जाता है और कर्ज़ तक ना चुका पाने के चक्कर में कई किसान तो आत्महत्या तक भी कर लेते है. इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए, किसानो को मजबूत और सशक्त बनाने के लिए केंद्र सरकार ने PM Kusum Yojana (PMKY) को शुरू किया है. पीएम कुसुम योजना की शुरुआत सरकार द्वारा साल 2019 में की गई थी. इस योजना के संचालन की ज़िम्मेदारी केंद्र सरकार के मिनिस्ट्री ऑफ न्यू एंड रिन्यूएबल एनर्जी विभाग को सौंपी गई है. 

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत किसानों को सिंचाई के लिए सोलर पैनल की सुविधा दी जाती है. इस योजना के अंतर्गत सोलर पंप लगाने में आने वाले खर्चे की कुल लागत का 60 प्रतिशत रकम का भुगतान सरकार द्वारा किया जाता है. शेष 40 प्रतिशत रकम का भुगतान स्वयं किसानों द्वारा किया जाएगा. 60 प्रतिशत अनुदान के साथ-साथ सोलर पंप की 25 वर्ष तक की गारंटी भी दी जाएगी.   

योजना का उद्देश्य किफायती दरों पर किसानों को सोलर पंप मुहैया कराना है और  देश में अक्षय ऊर्जा को बढ़ावा देना है. इस योजना के तहत अब तक तीन लाख से अधिक सोलर पंप की मंजूरियां मिल चुकी है, हालांकि सरकार द्वारा इस योजना के लिए 10 लाख किसानों को लाभ पहुँचाने का लक्ष्य रखा गया है. इस योजना के तहत, 10000 मेगावाट के सौर संयंत्र ऐसे बंजर भूमि पर स्थापित किए जाएंगे जहाँ खेती करना संभव नहीं है. 

इसके अलावा आपको जानकर ख़ुशी होगी कि सोलर पंप के इस्तेमाल से किसान न केवल अपने खेतों में सिंचाई कर सकेंगे, बल्कि बिजली पैदा कर उसे बेचकर कमाई भी कर पाएंगे. जी हां, सोलर पैनल से उत्पन्न होने वाली बिजली का उपयोग सिंचाई करने में किया जा सकेगा और अतिरिक्त बिजली को विद्युत वितरण बिजली (DISCOM) को बेच सकेंगे. इस तरह सोलर पंप किसानों की आय का साधन भी बनेगा. 

Pradhan Mantri Kusum Yojana का लाभ पाने के लिए आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से आवेदन कर सकते हैं. आवेदन करने के प्रोसेस के बारे में इस लेख के अंत में बताया गया है. इसलिए आप इस लेख को अंत तक ज़रूर पढ़े. 

Pradhan Mantri Kusum Yojana से इस तरह होगी कमाई

पीएम कुसुम योजना के ज़रिये बिजली या डीजल से चलने वाले सिंचाई पंप को सोलर एनर्जी से चलने वाले पंप में बदला जाता है. इसके बाद सोलर पैनल के इस्तेमाल से जो बिजली बनती है, उसका इस्तेमाल सबसे पहले खेतो में सिंचाई के लिए किया जायेगा और फिर बाकी बची बिजली को विद्युत वितरण कंपनी (DISCOM) को बेच सकते है. इस तरह से आपकी हर साल प्रति एकड़ 60 हजार रुपए से 1 लाख रुपए तक आमदनी हो सकती है. इसका एक और बड़ा फायदा यह है कि सौर एनर्जी के इस्तेमाल से प्रदूषण भी कम होगा और डीजल और बिजली के खर्च से भी राहत मिलेगी.

ये भी पढ़े – 

पीएम कुसुम योजना के लाभ एवं विशेषताएं 

प्रधानमंत्री कुसुम सोलर पंप योजना के लाभ एवं विशेषताएं निम्न है:-

  • प्रधान मंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा और उत्थान महाभियान (KUSUM) योजना की शुरुआत साल 2019 में हुई. 
  • इस योजना के क्रियान्वयन की ज़िम्मेदारी केंद्र सरकार ने नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय को सौंपी. 
  • PM Kusum Yojana PMKY के तहत किसान बहुत ही कम कीमत पर अपने खेतो में सिंचाई के लिए सोलर पंप लगवा सकते है. दरअसल, सोलर पैनल में आने वाले कुल खर्चे का 60% सरकार द्वारा भुगतान किया जायेगा बाकि 40% किसान को देना होगा. 
  • सोलर पंप 25 साल तक चलेगा और इसका रख-रखाव भी आसन है. 
  • एक बार सोलर पैनल स्थापित होने से बार-बार खेतो की सिंचाई में होने वाला खर्च भी बचेगा. 
  • किसान सोलर पैनल के ज़रिये पैदा होने वाली बिजली का उपयोग सिंचाई के अलावा अपने घरों में भी कर सकते हैं और विद्युत वितरण कंपनी (DISCOM) को बेचकर अपनी आय बढ़ाने में भी कर सकते है. 
  • इस योजना के तहत 10000 मेगावाट के सौर संयंत्र ऐसे बंजर भूमि पर भी स्थापित किए जाएंगे जहाँ खेती करना संभव नहीं है.
  • कुसुम योजना के लागू होने के बाद अब ऐसी भूमि पर भी खेती करी जा सकती है जहां पर पानी की कमी के कारण खेती नहीं होती थी.  
  • जैसा की आप सभी जानते है कि खेतो में सिंचाई के लिए डीजल इंजन का इस्तेमाल करना किसानो को बहुत महंगा पड़ता था. जिसकी वजह से किसान कई बार क़र्ज़ तक ले लेते थे और फिर कर्ज़ ना चुका पाने के चक्कर में आत्महत्या तक कर लेते थे लेकिन पीएम कुसुम योजना आने से आर्थिक तंगी के कारण आत्महत्या करने वाले किसानों को बचाया जा सकता है. 
  • इस योजना के माध्यम से किसानो की आय में वृद्धि होगी और किसान आर्थिक रुप से मज़बूत बनेगा. जैसा कि एक कहावत है “किसान मज़बूत तो देश मज़बूत”
  • सोलर पैनल के इस्तेमाल का सबसे बड़ा फायदा यह भी है कि पर्यावरण पर किसी भी प्रकार का दुष्प्रभाव नहीं पड़ेगा. 
  • कृषक प्रधानमंत्री कुसुम योजना का लाभ लेने के लिए किसान को सबसे पहले आवेदन करना होगा. आवेदन करने का तरीका इस लेख के अंत में बताया गया है. 
  • आवेदन फॉर्म भरने के 90 दिनों के भीतर आपकी ज़मीन पर सोलर पंप स्थापित कर दिया जायेगा. 

PM Kusum Scheme का उद्देश्य 

हमारे देश में अधिकतर किसान खेतो की सिंचाई करने के लिए डीजल इंजन का इस्तेमाल करते है. डीजल इंजन के इस्तेमाल से किसानो पर खर्चो का बोझ बहुत ज्यादा बढ़ जाता है. इसके अलावा हमारे देश के कई सारे राज्य सूखा प्रभावित घोषित हो चुके है. जिसके फलस्वरूप किसानो को काफी नुकसान झेलना पड़ा है. किसानो की इन गंभीर समस्या को दूर करने के लिए ही केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री कुसुम योजना की शुरुआत की है. इस योजना के तहत किसानों को सिंचाई के लिए बहुत कम दाम पर सोलर पैनल की सुविधा दी जाती है. कुसुम योजना के जरिये किसान को दोहरा फायदा होगा और उनकी आमदनी में भी बढ़ोतरी होगी. दूसरा यदि किसान अधिक बिजली बनाकर ग्रिड को भेजते है. तो उन्हें उसका भी लाभ मिल सकेगा. 

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के लिए कौन-कौन पात्र है ?

पीएम कुसुम योजना का लाभ किसान, किसानों का समूह, किसान उत्पादक संगठन, पंचायत, एएफपीओ, पंचायत, सहकारिता, जल उपयोगकर्ता यूनीट उठा सकते हैं. 

पीएम कुसुम योजना के लिए ज़रूरी दस्तावेज़ 

Pradhan Mantri Solar Panel Yojana के अंतर्गत आवेदन करने के लिए निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता होगी. 

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • आवेदक का पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • आवेदक का पहचान पत्र
  • आवेदक का राशन कार्ड
  • रजिस्ट्रेशन की कॉपी
  • ऑथराइजेशन की कॉपी
  • जमीन जमाबंदी की कॉपी
  • आवेदक की बैंक खाता पासबुक की फोटो-कॉपी
  • आवेदक का मोबाइल नंबर

Pradhan Mantri Kusum Solar Pump Yojana के मुख्य बिंदु

योजना का नाम पीएम कुसुम योजना
किसने आरंभ की केंद्र सरकार ने
योजना की शुरुआत कब हुई 8 मार्च 2019 को
किस मंत्रालय द्वारा संचालित की जा रही है नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय
लाभार्थी

किसान

लाभ  सस्ते दामो पर सोलर पंप मुहैया कराना
योजना का मुख्य उद्देश्य

PM Kusum Yojana (PMKY) की शुरुआत भारत सरकार द्वारा किसानों की आय बढ़ाने और सिंचाई के लिए स्रोत प्रदान करने और कृषि क्षेत्र को डीज़ल से मुक्त करने के लिए शुरू की गई है

PM Kusum Yojana Official Website

pmkusum.mnre.gov.in

पीएम कुसुम योजना रजिस्ट्रेशन ( PM Kusum Yojana Registration )

उत्तर प्रदेश वासियों के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

  • उत्तर प्रदेश के आवेदक को सोलर पंप हासिल करने के लिए सबसे पहले कृषि की विभागीय बेवसाइट www.upagriculture.com पर पंजीकृत होना अनिवार्य है. 
  • पंजीकरण हेतु विकासखण्ड के राजकीय कृषि बीज भण्डार प्रभारी अथवा जनपद के उप कृषि निदेशक से सम्पर्क करे और www.upagriculture.com पर अपना पंजीकरण करा ले. 
  • पंजीकरण होने के बाद आपको एक पंजीकरण संख्या मिलेगी, जिसे कृषक पंजीकरण संख्या भी कहते है. इस पंजीकरण संख्या को संभाल कर रखे. 
  • पंजीकरण होने के बाद आपको उत्तर प्रदेश कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. 
up kusum yojana

कृषक पंजीकरण संख्या जानने के लिए क्लिक करे

  • जैसे ही आप खोजे के विकल्प पर क्लिक करोगे तो आपके सामने किसान का विवरण आ जायेगा. जैसे किसान का नाम, गाँव, जिला, ब्लॉक आदि. 
  • अब बोरिंग के अनुसार सोलर पंप का प्रकार चुने. 
  • इसके बाद सत्यापन में उपयुक्त…… के सामने टिक करे और हां के बटन पर क्लिक करे. 
  • अब बुकिंग करे के विकल्प पर क्लिक करे. 
  • अब आपको सोलर पंप हेतु टोकन जनरेट करना होगा. 

टोकन जनरेट करने के लिए क्लिक करे

  • ऑनलाइन टोकन जनरेट करने के बाद आवेदक को चालान के माध्यम से अपने हिस्से की धनराशि एक सप्ताह के अंदर किसी भी इंडियन बैंक की शाखा में जमा करानी होगी, अन्यथा आवेदक का चयन स्वत: निरस्त हो जायेगा.  
  • अब आवेदन फॉर्म और सम्बंधित दस्तावेज़ों को ज़िला कृषि कार्यालय में जमा करा दें. 
  • इस प्रकार आपका उत्तर प्रदेश कुसुम योजना के अंतर्गत आवेदन पूर्ण हो जायेगा. 

राजस्थान के नागरिको के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

  • राजस्थान के आवेदक को सबसे पहले योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा. 
  • Online Registration के विकल्प पर क्लिक करे. 
  • अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आयेगा. 

Rajasthan Kusum Yojana Registration

  • आवेदन फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी दर्ज करे और संबधित दस्तावेज़ अपलोड करे. 
  • अंत में Submit के बटन पर क्लिक करे. 
  • इस प्रकार आपका आवेदन पूर्ण हो जायेगा. 

मध्य-प्रदेश के नागरिको के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

mp kusum yojana online registration

  • ऑफिशियल वेबसाइट पर आने के बाद आपको नवीन आवेदन करे के विकल्प पर क्लिक करना होगा. 
  • आवेदक किसान का मोबाइल नंबर दर्ज करे और OTP भेजे के ऑप्शन पर क्लिक करे. 
  • अब OTP दर्ज करके OTP वेरीफाई करे के ऑप्शन पर क्लिक करे. 
  • मोबाइल नंबर सत्यापित होने के बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आयेगा. 
  • आवेदन फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी दर्ज करे. 
  • जानकारी दर्ज करने के बाद अंत में पंजीकरण शुल्क का भुगतान करे. 
  • पंजीकरण शुल्क जमा करने के बाद आपका आवेदन पूर्ण हो जायेगा. 

महाराष्ट्र के आवेदक इस प्रकार आवेदन करे

maharashtra solar pump yojana registration
  • होम पेज पर आने के बाद आपको Apply के विकल्प पर क्लिक करना होगा.
  • इसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आएगा. 
  • आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी दर्ज करे. 
  • सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करे. 
  • इसके बाद Submit बटन पर क्लिक करे. 
  • इस प्रकार आपका महाराष्ट्र कुसुम योजना के अंतर्गत आवेदन पूर्ण हो जायेगा. 

हरियाणा वासियों के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको हरियाणा कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट की होम पेज पर जाना होगा. 
  • होम पेज पर आने के बाद आपको Kusum Yojana के लिए आवेदन करें के विकल्प पर क्लिक करना होगा. 
  • अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल कर आएगा. 
  • आवेदन फॉर्म में मांगी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज करनी होगी. 
  • अब सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करना होगा. 
  • इसके बाद आपको Submit के विकल्प पर क्लिक करना होगा. 
  • इस प्रकार आपका हरियाणा कुसुम योजना के अंतर्गत आवेदन पूर्ण हो जायेगा.

PM Kusum Yojana Toll Free Number / Helpline Number 

पीएम कुसुम योजना से जुड़ी किसी भी प्रकार की शिकायत या जानकारी के लिए नीचे दिए गए टोल फ्री या हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करे. 

  • Contact Number- 011-243600707, 011-24360404
  • Toll-Free Number- 1800-180-3333

ये भी पढ़े – 

FAQ

पीएम कुसुम योजना कब शुरू हुई?

केंद्र सरकार ने पीएम कुसुम योजना की शुरुआत 8 मार्च 2019 को की थी. इस योजना के क्रियान्वयन की ज़िम्मेदारी केंद्र सरकार ने ऊर्जा मंत्रालय को सौंपी. इस योजना के तहत किसानो को बहुत ही कम कीमत पर सोलर पंप लगाने का ऑफर दिया जाता है.

कुसुम योजना में कितनी सब्सिडी मिलती है?

कुसुम योजना के तहत लाभार्थी किसान को बहुत ही कम-कीमत पर सोलर पंप मुहैया कराया जाता है. दरअसल, किसान को कुल लागत की 40 प्रतिशत रकम देनी होती है. बाकि बची 60 प्रतिशत रकम में से 30 प्रतिशत केंद्र सरकार और 30 प्रतिशत राज्य सरकार मुहैया कराती है.

कुसुम योजना का लाभ कैसे प्राप्त करें?

कुसुम योजना के तहत सोलर पंप हासिल करने के लिए आवेदक किसान को कुसुम योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा. आवेदन करने के बाद आवेदक किसान के खेत में सोलर पंप स्थापित कर दिया जायेगा. आवेदन कैसे करना है आदि के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़े.

Leave a Comment