Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

UP CM Fellowship Program 2024: यूपी सीएम फेलोशिप योजना ऑनलाइन आवेदन, योग्यता, सैलरी व चयन प्रक्रिया

उत्तर प्रदेश सरकार ने हाल ही में युवाओं को एक अनूठा अवसर प्रदान करते हुए UP CM Fellowship Program की शुरुआत की है. आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से यूपी सीएम फैलोशिप योजना से जुड़ी सारी जानकारी मुहैया कराएंगे जैसे इस योजना के क्या-क्या लाभ हैं?, इस योजना का लाभ लेने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?, इस योजना को लागू करने का क्या उद्देश्य है?, इस योजना के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि क्या है? आदि. इसलिए अगर आप यूपी सीएम फ़ेलोशिप प्रोग्राम से संबंधित संपूर्ण जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को अंत तक ज़रूर पढ़े. 

UP CM Fellowship Program

Table Of Contents

UP CM Fellowship Yojana 2024 (यूपी सीएम फ़ेलोशिप योजना क्या है?)

यूपी सरकार (UP Government) ने शोधार्थियों के भविष्य को नई उड़ान देने के साथ-साथ योजनाओ को सफल बनाने के लिए मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना (UP CM Fellowship Program) की शुरूआत की है. ताकि चयनित युवाओं के माध्यम से सभी प्रकार की विकास परियोजनाओं और योजनाओं को सफल बनाया जा सके और शोधार्थी युवाओ को आर्थिक बल प्रदान किया जा सके.

इस योजना के तहत कृषि, ग्रामीण विकास, नगर योजना, पंचायतीराज एवं संबंध क्षेत्र, वन, पर्यावरण और जलवायु, शिक्षा, इंजीनियरिंग, स्वास्थ्य, स्वच्छता, पोषण एवं कौशल विकास, ऊर्जा एवं नवीकरणीय ऊर्जा, पर्यटन एवं संस्कृति, डेटासाइंस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, आईटी, आई.टी.ई.एस, जैव प्रोद्योगिकी, मशीन लर्निंग डेटा गवर्नेंस, बैंकिंग, वित्त एवं कर राजस्व, लोक नीति एवं गवर्नेंस आदि विषयों की जानकारी रखने वाले शोधार्थियों की नियुक्ति एक साल के लिए की जाएगी, जिसके दौरान वे अपने-अपने जिलों के जिलाधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी के अधीन काम करेंगे.

भूमिका और दायित्व

सरकार द्वारा आकांक्षी निकायों या ब्लॉको में चलाई जा रही विभिन्न विकास परियोजनाओं और योजनाओं की निगरानी करना और उनका मूल्यांकन करना चयनित शोधार्थियों की ज़िम्मेदारी होगी. वे कार्यान्वित की जा रही विभिन्न योजनाओं का आकलन करेंगे, कार्यान्वयन प्रक्रिया की समीक्षा करेंगे, प्रारंभिक डेटा का विश्लेषण करेंगे. योजनाओं के क्रियान्वयन में आने वाली समस्याओं का समाधान ढूंढेंगे, यदि कोई हो. उन साधनों का सुझाव देंगे जिनके माध्यम से लोगों को इन योजनाओं से लाभान्वित किया जा सकता है. उक्त कार्य को पूरा करने के लिए शोधार्थियों को एक टैबलेट भी उपलब्ध कराया जाएगा, या उन्हें टैबलेट खरीदने के लिए एकमुश्त राशि उपलब्ध कराई जाएगी. साथ ही फ़ेलोशिप प्रोग्राम खत्म होने तक हर महीने सैलरी भी प्रदान की जाएगी और आवासीय सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी.

प्रगति स्कॉलरशिप स्कीम

यूपी सीएम फ़ेलोशिप प्रोग्राम का मुख्य उद्देश्य  

इस योजना का मुख्य उद्देश्य युवाओं को सार्वजनिक सेवा में प्रतिभा करने और राज्य के विकास में अपना योगदान देने के लिए पर्याप्त मंच प्रदान करना है.

पात्रता (UP CM Fellowship Eligibility)

UP CM Fellowship Yojana 2024 का लाभ लेने के लिए पात्रता इस प्रकार है:-

  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने वाला उम्मीदवार यूपी का निवासी होना चाहिए. 
  • केवल स्नातक (न्यूनतम 60% अंको के साथ) या स्नाकोत्तर या पीएचडी (पूर्ण अथवा थीसिस प्रस्तुत) छात्र ही पात्र होंगे.
  • आवेदक हिंदी भाषा बोलने एवं लिखने में कुशल होना चाहिए. 
  • फेलोशिप से सम्बंधित विषयगत क्षेत्रो जैसे लेख प्रकाशन / नीति पत्रों / शोध पत्रों / मूल्याँकन / परियोजनाओ और योजनाओ की मोनिटरिंग आदि से सम्बंधित क्षेत्र में कार्य करने का अनुभव भी होना चाहिए.
  • कैंडिडेट के पास कंप्यूटर की नॉलेज भी होनी चाहिये. जिन कैंडिडेट्स के पास डेटा एनालिसिस में एक्सपीरियंस होगा उन्हें वरीयता दी जायेगी. 
  • आवेदक फील्ड वर्क में कार्य करने का इच्छुक होना चाहिए. 

आयु सीमा

सीएम फैलोशिप योजना का लाभ लेने के लिए उम्मीदवार की अधिकतम उम्र 40 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए. आयु की गणना आवेदन की अंतिम तिथि के अनुसार की जाएगी.

यूपी सीएम फेलोशिप योजना के तहत चयन प्रक्रिया

चयन हेतु उम्मीदवार को निम्न प्रक्रियाओं से गुजरना होगा :-

  1. इच्छुक अभ्यार्थियों को पहले अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा. 
  2. आवेदन के समय 300 से 500 शब्दों में उद्देश्य का विवरण (Statement of Purpose – SOP) भी अपलोड करना होगा. 
  3. प्राप्त आवेदन पत्रों की स्क्रीनिंग हेतु वरिष्ठ अधिकारियो / विषय विशेषज्ञों की एक कमेटी का गठन किया जायेगा. 
  4. इसके बाद आवेदक का इंटरव्यू होगा. 

मूल्यांकन प्रक्रिया

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

उद्देश्य का विवरण (Statement of Purpose – SOP) लिखने का तरीका

यूपी फैमिली आईडी ऑनलाइन आवेदन

UP CM Fellowship Program के अंतर्गत निम्न क्षेत्रो में अध्ययन करने वाले विद्यार्थियों / शोधार्थियों का चयन किया जायेगा

ऐसे आवेदक जिन्होंने निम्नलिखित फिल्ड में स्नातक की पढ़ाई पूर्ण की हो, वे ही फेलोशिप कार्यक्रम के लिए चयनित किए जाएंगे.

  • इंजीनियरिंग (Engineering)
  • भूगोल (Geography)
  • शहरी नियोजन / डिजाइन / विकास (UrbanPlanning / Design / Development)
  • वास्तुकला / आवास प्रबंधन (Architecture / Habitat Management)
  • प्रबंधन (Management)
  • पर्यावरण एवं जलवायु (Environment and Climate)
  • स्वास्थ्य (Health)
  • स्वच्छता, पोषण ऊर्जा और नवीकरणीय ऊर्जा (Sanitation, Nutrition Energy & Renewable Energy)
  • कौशल / उद्यमिता विकास (Skill / Entrepreneurship Development)
  • विरासत / वास्तु कला संरक्षण (Heritage / Architecture Conservation)
  • पर्यटन और संस्कृति (Tourism and Culture)
  • डेटा साइंस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Data Science Artificial Intelligence)
  • आईटी (IT)
  • आई.टी.ई.एस (ITES)
  • मशीन लर्निंग डाटा गवर्नेंस (Machine Learning Data Governance)
  • अर्थशास्त्र (Economics)
  • बैंकिंग (Banking)
  • फाइनेंस और टैक्स रेवेनुए (Finance & Tax Revenue)
  • सार्वजनिक नीति और शासन (Public Policy and Governance) 
  • कृषि, ग्रामीण विकास, पंचायतीराज एवं संबंध क्षेत्र
  • आवश्यकतानुसार अन्य क्षेत्रो में अध्ययन करने वाले विद्यार्थी भी इस योजना के तहत आवेदन कर सकते है.  

प्रशिक्षण कार्यक्रम

  • चयन होने के बाद शोधार्थी को दो सप्ताह का प्रशिक्षण दिया जायेगा.
  • प्रशिक्षण उत्तर प्रदेश प्रशासनिक एवं प्रबंधन एकेडमी, लखनऊ द्वारा दिया जायेगा.
  • प्रशिक्षण में IIT एवं IIM जैसी विशिष्ट संस्थाओ के विशेषज्ञों की मदद ली जाएगी. 

सैलरी (UP CM Fellowship Salary Per Month)

यूपी सीएम फेलोशिप स्कीम के तहत चयनित शोधार्थियों को प्रतिमाह 30,000 रू0 वेतन मिलेगा. इसके अलावा हर माह यात्रा भत्ते के रुप में 10,000 रू0 का भुगतान भी किया जायेगा. साथ ही, शोधार्थी को विभागीय योजनाओ / कार्यो की निगरानी एवं मूल्यांकन हेतु एक टेबलेट भी दिया जायेगा टेबलेट खरीदने के लिए हर एक चयनित शोधार्थी को सरकार की तरफ से 15,000 रू0 का एकमुश्त भुगतान किया जायेगा. चयनित शोधार्थी को निकाय या ब्लॉक द्वारा आवासीय सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी. यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप कार्यक्रम के लिए आवेदन जल्द शुरू होंगे.

1 वर्ष के लिए बढ़ सकती है अवधि

फेलोशिप कार्यक्रम के तहत चयनित शोधार्थी की नियुक्ति एक वर्ष के लिए की जाएगी. अगर शोधार्थी का कार्य प्रशंसा पूर्वक रहा तो, सक्षम अधिकारी के अनुमति के बाद फेलोशिप की अवधि 1 वर्ष के लिए बढ़ाई जा सकती है. लेकिन ध्यान रहे जो शोधार्थी को वेतन उतना ही दिया जाएगा, जितना शुरू में तय हुआ है. यानी बढ़ी हुई अवधि में 40,000 रू0 प्रतिमाह के अतिरिक्त अन्य भुगतान नहीं किया जाएगा. सफलतापूर्वक फैलोशिप पूर्ण करने पर राज्य सरकार द्वारा प्रमाण पत्र भी प्रदान किया जाएगा.

यूपी मिशन रोजगार योजना

अवकाश

अगर शोधार्थी का कार्य सराहनीय रहता है तो सरकार उस शोधार्थी की अवधि एक साल के लिए ओर बढ़ा सकती है. शोधार्थी एक साल में सरकारी छुट्टियों के अलावा 12 दिन की छुट्टी ले सकता है. 

UP CM Fellowship Scheme की विशेषताएं 

यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना (UP Mukhyamantri Fellowship Scheme) की विशेषताएं इस प्रकार है:-

  • इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश सरकार आकांक्षी ब्लॉकों या निकायों में चलाई जा रही विभिन्न विकास परियोजनाओं और योजनाओं की मोनिटरिंग के लिए करीब 100 युवा शोधकर्ताओं की भर्ती करेगी. 
  • सेलेक्टेड कैंडिडेट्स को हर महीने 30 हजार रुपये दिये जायेंगे. इसके अलावा कैंडिडेट्स को हर फील्ड विजिट के लिये 10 हजार रुपये दिये जायेंगे. इन सब के अलावा कैंडिडेट्स को स्कीम की मॉनिटरिंग और उसे इवैल्यूएट करने के लिये 15 हजार रुपये की राशि भी दी जायेगी. इससे वो मॉनिटरिंग के लिये टैबलेट खरीद सकेंगे.
  • कैंडिडेट को जिस ब्लॉक या निकाय में काम के लिये भेजा जायेगा वहां रहने की सुविधा भी दी जायेगी.
  • फेलोशिप के दौरान कैंडिडेट्स के पास सरकारी छुट्टियों के अलावा एक साल में 12 दिन छुट्टी लेने का भी ऑप्शन होगा.
  • फेलोशिप प्रोग्राम एक साल के लिये होगा. ये प्रोग्राम एक साल के लिये बढ़ाया भी जा सकता है, बशर्ते संबंधित डिपार्टमेंट इसकी अनुमति दे तो.  
  • ये एक फुल टाइम प्रोग्राम है. प्रोग्राम में एग्रीकल्चर, एनर्जी, टूरिजम, डेटा साइंस, बायोटेक्नोलॉजी, बैंकिंग, पब्लिक पॉलिसी जैसी फील्ड के स्टूडेंट सेलेक्ट किये जायेंगे.
  • इस योजना के लागू होने से सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओ का लाभ लोगो तक पहुँचाने में आसानी होगी और शोधार्थी युवाओ को आर्थिक बल मिलेगा. 
  • चयनित उम्मीदवार को केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओ में भागीदारी का अवसर मिलेगा. 
  • इसके अलावा शोधार्थी को जिले के सर्वोच्च अधिकारियो के साथ कार्य करने का अवसर प्राप्त होगा. 
  • जनहित की योजनाओ के कार्यान्वयन में प्रशासन की मदद करना.
  • कार्यक्रम के तहत शोधार्थी द्वारा आवंटित कार्य को निर्धारित समय अवधि में सफलतापूर्वक पूरा करने पर राज्य सरकार द्वारा प्रमाण पत्र भी प्रदान किया जाएगा.

UP CM Fellowship Program के मुख्य बिंदु

योजना का नाममुख्यमंत्री फेलोशिप प्रोग्राम
योजना की शुरुआत कब हुई2022 में 
किसने आरंभ कीउत्तर प्रदेश सरकार ने
किस मंत्रालय की देखभाल में चलाई जा रही हैंनियोजन विभाग उत्तर प्रदेश
लाभार्थीस्नातक, स्नाकोत्तर एवं पीएचडी होल्डर युवा
ऑफिशियल वेबसाइट (UP CM Fellowship Official Website)anyurban.upsdc.gov.in
आवेदन शुरू होने के तिथिजल्द अपडेट किया जायेगा

यूपी मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना

यूपी मुख्यमंत्री फ़ेलोशिप प्रोग्राम (UP CM Fellowship Program) के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पहचान पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • शेक्षणिक दस्तावेज़ 
  • ईमेल आईडी

आवेदन कब निरस्त होगा?

  • आवेदन अस्पष्ट होने की स्थिति में रद्द कर दिया जायेगा. 
  • एक ईमेल आईडी, फ़ोन नंबर एवं एक नाम से केवल एक आवेदन ही स्वीकार्य होगा. 
  • आवेदक द्वारा 300 से 500 शब्दों में उद्देश्य का विवरण (Statement of Purpose – SOP) अपलोड नहीं करने पर, आवेदन निरस्त कर दिया जायेगा. 

अन्य महत्वपूर्ण बातें

  • मुख्यमंत्री फेलोशिप कार्यक्रम एक पूर्णकालिक कार्यक्रम है. अतः चयनित अभ्यर्थी को फेलोशिप कार्यक्रम की अवधि के दौरान कोई अन्य रोजगार, असाइनमेंट और अन्य पूर्ण कालिक अध्ययन / कार्य करने की अनुमति नहीं दी जाएगी.
  • सीएम फलों को 100 नगरी निकायों या ब्लॉको में से किसी भी निकाय या ब्लॉक में स्थानांतरित किया जा सकता है.
  • फेलोशिप कार्यक्रम कार्यकाल पूर्ण होने के बाद स्थाई सेवा या रोजगार के गारंटी नहीं देता है.
  • फेलोशिप कार्यक्रम में शामिल होने के समय शोधार्थी को एक मेडिकल फिटनेस प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा. चयन होने के बाद पुलिस वेरिफिकेशन कराया जाएगा.
  • शोधार्थी को नियुक्ति पत्र प्रदान किए जाने के 15 दिन के भीतर, संबंधित कार्यालय में कार्य ग्रहण करना होगा. निर्धारित समय अवधि में कार्य ग्रहण न करने की स्थिति में अभ्यर्थी का चयन रद्द कर दिया जाएगा.
  • शोधार्थी को आवश्यकता अनुसार अतिरिक्त घंटे काम करना और यात्रा करने की आवश्यकता हो सकती है.
  • फेलोशिप की अवधि के दौरान शोधार्थी को किसी भी राजनीतिक आंदोलन में भाग लेने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

आवेदन की अंतिम तिथी (UP CM Fellowship Last Date)

यूपी सीएम फैलोशिप स्कीम का लाभ लेने के लिए आवेदन प्रक्रिया 10 दिसम्बर 2023 से 1 जनवरी 2024 तक चली थी. अब 2024 में दोबारा से शुरू की जाएगी. जैसे ही ऑफिशियल वेबसाइट पर आवेदन प्रक्रिया शुरू होने के बारे में अपडेट आता है तो, हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से जानकारी मुहैया करा देंगे. आवेदन से पहले इस योजना से संबंधित संपूर्ण जानकारी को एक बार ज़रूर पढ़ ले जैसे पात्रता, आयु सीमा, चयन प्रक्रिया व आवश्यक दस्तावेज, सैलरी आदि.

आवेदन लिंक (UP CM Fellowship Yojana Apply Online)

ऑफिशियल नोटिफिकेशन

हेल्पलाइन नंबर

UP CM Fellowship Program से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या या सुझाव के लिए आप 0522-2838116 (Office Time) पर संपर्क कर सकते है.

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Leave a Comment