महिला पहलवान विनेश फोगाट का जीवन परिचय: Vinesh Phogat Biography in Hindi

Vinesh Phogat Biography in Hindi, विनेश फोगाट रेसलर, विनेश फोगाट का जीवन परिचय, विनेश फोगाट की जीवनी, विनेश फोगाट की शादी, Vinesh Phogat Family, Vinesh Phogat Father, Vinesh Phogat Sisters, Vinesh Phogat Gold Medal, Vinesh Phogat Olympics, विनेश फोगाट बायोग्राफी, विनेश फोगाट ओलंपिक्स, विनेश फोगाट मेडल्स, Vinesh Phogat Husband

Vinesh Phogat Biography in Hindi

Vinesh Phogat Biography in Hindi: “कहते है जिंदगी में दुख और परेशानी इंसान को बेहद कमजोर कर देती है, लेकिन विनेश फोगाट ने इसी दौर को अपनी मजबूती बना लिया. इस महिला पहलवान ने साबित कर दिखाया कि कुछ कर गुजरने का जज्बा हो, तो बड़ी से बड़ी बाधा भी राह छोड़ देती है. विनेश आज जिस मुकाम तक पहुंची हैं, वहां तक पहुंचना इतना आसान नहीं था. एक वो दौर भी था जब विनेश ने हर वह बुरा मंजर देखा (पिता की मौत से लेकर माँ को कैंसर होना), जिसमें कोई भी इंसान टूट सकता है. मगर उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और आज विनेश फोगाट देश का एक जाना माना चेहरा है. आज हम इस लेख के माध्यम से विनेश फोगाट के कुछ खास जीवन पहलू पर प्रकाश डालेगे”.

Vinesh Phogat Biography in Hindi

नामविनेश फोगाट
जन्म तिथी25 अगस्त 1994
जन्म स्थानगाँव – बलाली

जिला – भिवानी

राज्य – हरियाणा
नागरिकताइंडियन
धर्महिंदू
जातिजाट
हाइटसेंटीमीटर में – 160 cm

मीटर में – 1.60 m

फीट में – 5’ 3’’
वजनकिलोग्राम में – 56 कि.ग्रा.

पौंड में – 110 lbs
आंखों का रंगकाला
बालों का रंगकाला
पसंदीदा अभिनेतासलमान खान
पसंदीदा अभिनेत्रीप्रीति जिंटा, कैटरीना कैफ, माधुरी दीक्षित, प्रियंका चोपड़ा
पसंदीदा गायकनेहा कक्कड़
पसंदीदा फिल्मेंएबीसीडी 2, कल हो ना हो, जोधा अकबर, अजब प्रेम की गजब कहानी, हेरा फेरी, भाग मिल्खा भाग
शौकपढ़ना

विनेश फोगाट की फैमिली (Vinesh Phogat Family)

vinesh phogat family
फोट – google

हरियाणा के भिवानी जिले के बलाली गांव में जन्मी विनेश फोगाट की माता का नाम प्रेमलता और उनके पिता का नाम राजपाल था. जो पेशे से एक किसान थे. जब वह 10 साल की थीं, तब जमीन विवाद को लेकर इनके पिता की किसी ने हत्या कर दी. ऐसे में इनका लालन-पालन इनकी मां और उनके चाचा ने किया. इस तरह इनका बचपन अपनी चचेरी बहनों के साथ बिता. विनेश फोगाट का एक भाई है जिसका नाम हरविंदर फोगाट है और एक बहन है जिसका नाम प्रियंका फोगाट है. प्रियंका फोगाट भी विनेश की तरह ही एक रेसलर है. जिन्होंने 2016 एशियाई चैंपियनशिप में रजत पदक जीता था.

ये भी पढ़े >> अंबानी परिवार की होने वाली छोटी बहु राधिका मर्चेंट का जीवन परिचय

विनेश फोगाट की पढ़ाई लिखाई (Vinesh Phogat Education)

विनेश फोगाट ने अपनी शुरुआती शिक्षा के.सी.एम सीनियर सेकेंडरी स्कूल झोझू कलां, हरियाणा से पूरी की. बाद में महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी (एम.डी.यू), रोहतक, हरियाणा से स्नातक की शिक्षा हासिल की.

विनेश फोगाट का वैवाहिक जीवन (Vinesh Phogat Merriage Life)

vinesh phogat husband
फोटो – google

अंतर्राष्ट्रीय महिला पहलवान विनेश फोगाट 14 दिसंबर 2018 को मशहूर रेसलर सोमवीर राठी के साथ विवाह के बंधन में बंधी थी. शादी समारोह विनेश के पैतृक गांव बलाली में बेहद सामान्य ढंग से संपन्न हुआ था. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि विनेश और सोमवीर ने सात नहीं बल्कि आठ फेरे लिए थे. आठवां फेरा लेकर उन्होंने समाज को बेटी बचाओ-पढ़ाओ-खेलाओ का संदेश दिया था. एक इंटरव्यू के दौरान सोमवीर ने बताया भी था कि आठवां फेरा लेने का मकसद बेटी को पढ़ाने और लिखाने के अलावा खिलाने (खेलों में मौका देने का) के प्रति भी लोगों को जागरूक करना था.

चाचा महावीर फोगाट से सीखे कुश्ती के गुर

vinesh phogat sisters
फोटो – google

जब विनेश ठीक से जीवन की कड़ियों को समझने भी नहीं लगी थीं, तभी पता चला कि मां को कैंसर है. दुखों का पहाड़ तो उस वक्त टूटा, जब कैंसर का पता लगने के तीन दिन बाद ही पिता का साया सिर से उठ गया. लेकिन किसी ने नहीं सोचा भी नही होगा कि वो आज इतनी बड़ी स्टार बन जायेंगी.

पिता की मृत्यु के बाद चाचा महावीर फोगाट ने उन्हें पहलवानी के गुर सिखाए. महावीर फोगाट प्रतिष्ठित द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता कोच और महिला पहलवानों गीता और बबीता फोगाट के पिता हैं. इस लिहाज़ से विनेश फोगाट गीता और बबीता फोगाट की चचेरी बहन हैं, उनके पिता महावीर और विनेश के पिता राजपाल भाई-भाई हैं. विनेश के चाचा और पिता ने अपने घर की बेटियों को कुश्ती में आगे बढ़ाने के लिए समाज से लंबी लड़ाई लड़ी. 

ये भी पढ़े >> सावित्रीबाई फुले का जीवन परिचय

विनेश फोगाट का रेसलिंग करियर (Vinesh Phogat Wrestling Career)

विनेश फोगाट ने अपने अन्तर्राष्ट्रीय कुश्ती करियर की शुरुआत साल 2013 में एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में उतरकर की. इस चैंपियनशिप में विनेश फोगाट ने 52 किलो वर्ग में कांस्य पदक जीता था. इसके बाद दक्षिण अफ़्रीका के जोहान्सबर्ग में हुए राष्ट्रमंडल कुश्ती चैंपियनशिप में 51 किलो वर्ग में रजत पदक हासिल किया.

साल 2014 में ग्लासगो में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में इस युवा पहलवान ने 48 किलो भार वर्ग में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय स्वर्ण पदक हासिल किया. इसके बाद उसी साल दक्षिण कोरिया के इंचियोन में हुए एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीता. विनेश फोगाट यहीं पर नहीं रुकी, इसके बाद साल 2015 में हुए एशियाई चैंपियनशिप में पिछले संस्करण के मुकाबले बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए रजत पदक हासिल किया.

राष्ट्रमंडल खेलों में अपनी सफलता के साथ, इस महिला पहलवान ने उम्मीदों को इतना बढ़ा दिया कि रियो ओलंपिक में पदक जीतने की उम्मीदवारों में उनका नाम गिना जाने लगा. लेकिन क्वार्टर फ़ाइनल मुक़ाबले में वे चोटिल हो गईं और उन्हें स्ट्रेचर पर बाहर ले जाना पड़ा. रियो ओलंपिक में चोट लगने के बाद करीब डेढ़ साल बिस्तर पर रही. इस चोट ने उनके करियर पर सवालिया निशान लगा दिये थे और उनकी मानसिक सेहत पर गहरा असर पड़ा. सबको लगा कि अब उनका रेसलिंग करियर खत्म हो गया, लेकिन एक ब्रेक के बाद वह और मजबूत होकर लौटी और शानदार वापसी करते हुए एक कांस्य पदक और एक रजत पदक अपने नाम किये.

साल 2018 में हुए गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में विनेश फोगाट ने 50 किलो भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीतकर एक नई मिसाल कायम की. इसके बाद अपने झुझारू प्रदर्शन को जारी रखते हुए जकार्ता एशियाई खेलों में फिर स्वर्ण पदक हासिल किया और एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बनी. 2019 में, विनेश फोगाट ने एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप के 53 किलो भार वर्ग में कांस्य पदक से साथ अपने मजबूत फॉर्म को जारी रखा. इसके बाद साल 2022 में हुए कॉमनवेल्थ गेम में एक बार भी स्वर्ण पदक जीतकर अपने देश का नाम रोशन किया.

इस तरह अपनी शानदार कामयाबी से वह महिलाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत बन गयी हैं. साथ ही यह सीख दी है कि लगातार कड़ी मेहनत, संघर्ष, जुनून और समर्पण की बदौलत ही किसी क्षेत्र में कामयाबी हासिल की जा सकती है. खासकर स्पोर्ट्स जैसे सेक्टर में, जहां आपके पास छोटी-सी गलती करने की भी गुंजाइश नहीं होती है और गलती हुई, तो आपको लोगों से आलोचना का सामना करना पड़ता है.

उपलब्धियां

vinesh phogat medals
फोटो – google
  • वर्ष 2013 में एशियाई चैम्पियनशिप, नई दिल्ली में 52 किलो ग्राम भार वर्ग में कांस्य पदक
  • वर्ष 2014 में एशियाई खेल, इंचियोन में 48 किलो ग्राम भार वर्ग में कांस्य पदक
  • वर्ष 2016 में एशियन चैंपियनशिप के दौरान 53 किलो वर्ग में कांस्य पदक
  • वर्ष 2019 में आयोजित विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप व एशियन चैंपियनशिप दोनों में कांस्य पदक
  • वर्ष 2020 में एशियन चैंपियनशिप में कांस्य पदक
  • वर्ष 2013 में राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप, जोहान्सबर्ग में 51 किलो ग्राम भार वर्ग रजत पदक
  • वर्ष 2015 में एशियाई चैंपियनशिप, दोहा में 48 किलो ग्राम भार वर्ग में रजत पदक
  • वर्ष 2016 में ही दूसरी चैंपियनशिप में 53 किलो वर्ग में रजत पदक
  • वर्ष 2014 में कॉमनवेल्थ गेम्स, ग्लासगो में 48 किलो ग्राम भार वर्ग में स्वर्ण पदक
  • वर्ष 2018 में आयोजित एशियन चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक
  • वर्ष 2018 में कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक
  • वर्ष 2022 बर्मिंघम में आयोजित कॉमन वेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक

अवार्ड

भारत सरकार ने उन्हें 2016 में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया था, जो एथलीटों को दिए जाने वाले सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों में से एक है. इसके बाद साल 2020 में अंतरराष्ट्रीय महिला पहलवान विनेश फोगाट को खेलों के लिए दिए जाने वाले सर्वोच्च अवॉर्ड राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड से भी नवाज़ा गया था.

चर्चा में क्यों?

हाल ही में 18 जनवरी 2023 को भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष और बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह पर महिला पहलवानो ने यौन शोषण जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं. देश की जानीमानी पहलवान विनेश फोगाट ने एक चौंकाने वाले खुलासे में बुधवार 18 जनवरी 2023 को रोते हुए आरोप लगाया कि नेशनल कैंप्स में नियुक्त किए गए कई कोच सालों से महिला पहलवानों का शोषण कर रहे हैं. भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के अध्यक्ष और बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह भी इसमें शामिल है. महिला पहलवान अपना मुंह ना खोले, इसके लिए फेडरेशन खिलाड़ियों पर जबरदस्ती बैन लगाने की धमकी देती है जिससे खिलाड़ी न खेल सके. उन्होंने आगे कहा कि ” हमारे जो आरोप हैं, वो सच्चे हैं. हमें मजबूर न किया जाए सबके सामने आने के लिए, हम अपने सम्मान के लिए लड़ रहे हैं. हम पूरे देश को यह नहीं बताना चाहते कि देश की बेटियों के साथ क्या हुआ है. जिस दिन सारी लड़कियां मीडिया को बताएंगी कि हमारे साथ क्या हुआ, वो कुश्ती का दुर्भाग्य होगा”

विनेश फोगाट कौन सा खेल खेलती है?

हरियाणा में जन्मी विनेश फोगाट एक भारतीय महिला पहलवान है. कुश्ती के क्षेत्र में भारत का प्रतिनिधित्व करती है. विनेश फोगाट ने अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय, कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियाई खेलों में शानदार प्रदर्शन करते हुए कई पदक अपने नाम किए हैं.

विनेश फोगाट को कौन सा मेडल मिला?

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय महिला रेसलर विनेश फोगाट ने पांच कांस्य, तीन रजत और चार स्वर्ण पदक अपने नाम किए हैं.

विनेश फोगाट की कितनी बहने हैं?

विनेश फोगाट की एक बहन और एक भाई है. भाई का नाम हरविंदर फोगाट है और बहन का नाम प्रियंका फोगाट है. प्रियंका फोगाट भी विनेश फोगाट की तरह एक भारतीय महिला रेसलर हैं. इसके अलावा दंगल फिल्म से मशहूर हुई बबीता फोगाट और गीता फोगाट विनेश फोगाट की चचेरी बहन है.

लेटेस्ट अपडेट

Share this:

Leave a Comment